राजकोट के परिवार का दर्द: 4 साल की बेटी है-पाक करने के लिए ऐसा करने की बात नहीं है

0
260


  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • गुजरात
  • कोरोना के बाद 4 महीने से कोमा में हैं प्रोफेसर, 4 साल की बेटी बोली, ‘पापा, अब नहीं बोलूंगा तो कभी नहीं बोलूंगा’

राजकोट5 घंटे पहले

  • लिंक लिंक
.  - दैनिक भास्कर

.

राजकोट में ये सभी एक परिवार की आंखों से देखने वाले थेमने का नाम हैं। प्रभावित होने के बाद संक्रमित होने के बाद संक्रमित होने के बाद वे संक्रमित हो सकते हैं। परिवार में उनकी बेटी को तीन.

‘बेटी बदली हुई बातचीत’, यह आपके हिसाब से मेल खाती है। ये शब्द ऐसे भी हैं जो आपकी आँखों को ढूँढ़ते हैं।

पिता को पता था कि यह कैसा है?
राजकोट के कोठा में प्रेक्षक के रूप में वे संक्रमित थे। हालत बिगड़ने पर उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था, लेकिन इसके बाद से ही वे कोमा में चले गए। यह कभी भी चलने वाले समय के बारे में नहीं है। इस तरह की स्थिति में नम्रता से दोबारा मिलते हैं और ऐसे ही मिलते-जुलते रहने की स्थिति में होते हैं। इसी बीच उन्होंने बेटे को जन्म दिया, जो अब तीन महीने का हो चुका है, लेकिन पिता राकेश को नहीं मालूम कि बेटा उनकी गोद में खेलता रहता है।

अब तक कुछ भी सुधार न करें
परिवार के रूप में खराब होने के कारण ऐसा होता है। आपात स्थिति के बाद के मौसम में ही परिवार की समस्याएं होती हैं। ️ अस्पताल️ अस्पताल️️️️️️️ इलाज के लिए राजकोट के अलावा बेंगलुरु, चेन्नई और अमेरिका तक के डॉक्टर्स से सलाह ली जा चुकी है, लेकिन राकेश की हालत में अभी तक कोई सुधार नहीं हुआ है।

इन्सलेटर्स की मदद करने वाला परिवार अर्थव्यवस्था संकट में
राकेश राजकोट के ही एक निजी कॉलेज में पेशेवर हैं। अलग-अलग इलाकों में प्रेत से अलग, तनख़्वाह भी। घर के बिजली के खराब होने की वजह से ऐसा होता है। इस तरह के क्रियाकलाप से प्रभावित होने के नाते सामाजिक कार्यकर्ता सामाजिक रूप से सक्रिय रहने के लिए मजबूर होते हैं।

स्वादिष्ट स्वादिष्ट भोजन प्राप्त करें!
पत्नी की तरह राकेश की बूरी माँ का भी गलत। वे हर समय कार्य करते हैं। पसंद के हिसाब से चुन सकते हैं और खा लो। ट्विल, 4 साल की बेटी टेलीविजन-कूदना तक झूठा है। वह हर समय पॅपती नहीं है। बेटी की हालत जो भी देखता है, उसकी आंखें भर आती हैं। अब को चमत्कारी चमत्कारी है।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here