राजनांद गांव का डाकिया परिवार रोग पथ पर: 30 करोड़ की संपत्ति दान कर पूरे परिवार ने ली दीक्षा, एक बेटी 5 फरवरी को लैगी दीक्षा

0
54

राजनांदगांवएक खोज पहलेलेखक: श्रेया श्रीवास्तव

  • लिंक लिंक

डाकिया परिवार के बच्चों के लिए यह एक बड़ा नाम है। परिवार ने 30 करोड़ रुपए की संपत्ति संपत्ति का ऋण ली है। करोड़ों की संपत्ति, सुख संपत्ति और आराम के जीवन जीने के लिए वैवाहिक जीवन पथ पर दांव। डाक परिवार के परिवार ने एक साथ दीक्षा ली।

एक सदस्य की जाँच के बाद, वह कौन-से पाँच बार राजम में दीक्षा लेता है। मुमुक्षु भूपेंद्र ने उन गुणों को करोड़ों में रखा है। संपत्ति संपत्ति संपत्ति भी शामिल करें। 9 नवंबर को परिवार परिवार ने ख़िताबों को ख़तम किया। निम्नलिखित पूरा परिवार एक पथ पर चलना चाहिए। जैन धर्म के लोगों ने कि खरतरगच्छिक में एक बार, संपूर्ण परिवार के साथ दीक्षा की है।

ये है मुक्ता जो 5 फरवरी को दीक्षा लें लें

ये है मुक्ता जो 5 फरवरी को दीक्षा लें लें

डॉक्‍यूटिव उत्पाद मुमुक्षु भूपेंद्र ने कीट कीट की खोज की,
परिवार साल 2011 में रायपुर के कैवल्यधाम था। सूक्ष्म सूक्ष्म कणों को तेज करने का भाव जागा। हर्षित की आयु 6 साल की। हर्षित ने गुरु के सन्निध्याल में हंसते-हंसते अपना केशलोन था। इस बात को समझने के लिए – कैवल्य से बैलेंस के हिसाब से कुछ बदली की जाने वाली श्रेणी में ही बदली जाती है। लेकिन सभी आयु वर्ग की आयु कम थी, सभी का वयस्क होने का अनुमान लगाया गया था। वयस्क होने के बाद, यह मन के हिसाब से बदल जाएगा, और दीक्षा की स्थिति में बदल जाएगा। रोग पर विचार करें।

चारों α 🙏 🙏 असंध में और मेरी पत्नी के साथ जुड़ते ही दीक्षा. सभी ने आखिरी बार 9 नवंबर 2021 को एक साथ रखा। स्मारक परिवार की जानकारी रविवार को सभी संस्कारों का पालन किया गया। जहां से सभी स्थिर पर चलते हैं। परिवार के बच्चे पैदा करने के लिए ये विविध प्रकार के हैं।

ये परिवार के परिवार के नाम हैं
, देवेंद्र डाकलिया (18) वद्रित डाकलिया (16) का डिक्‍शन स्‍टेशन। हालांकि मुमुक्षु मुक्ता डाकिया (20) दीक्षा राजिम में।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here