HomeIndia Newsराजस्थानी युवक से आयुषी का 4 साल से था अफेयर: दूसरी जाति...

राजस्थानी युवक से आयुषी का 4 साल से था अफेयर: दूसरी जाति में शादी से नाराज थे पिता, गोली मार पोर्टपोर्ट में फेंकी लाश

Date:

Related stories

दक्षिण के 3 राज्यों में चक्रीय मंडौस की चेतावनी: तमिलनाडु में भारी बारिश, उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड

हिंदी समाचारराष्ट्रीयचक्रवाती तूफान मंडौस अलर्ट; तमिलनाडु; पुडुचेरी;...

युवक के गले में फंसा 150 साल पुराना त्रिशूल: ऑपरेशन के लिए 65KM का सफर कर सकता हूं अस्पताल

हिंदी समाचारराष्ट्रीयकोलकाता के मानव ने गर्दन में डाला त्रिशूल;...

रायपुर17 मिनट पहले

- Advertisement -

इस दौरान उम्रदराज हत्याकांड का संबंध आरोपी से है। 6 दिन पहले 18 नवंबर को याया एक्सप्रेस-वे पर पोर्टो में लाश मिली थी। इस मामले में यूपी पुलिस ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। 22 साल की उम्र में 1 साल 3 महीने पहले दिल्ली में भरतपुर के एक लड़के से शादी कर ली थी।

- Advertisement -

- Advertisement -

आयुषी के जानकार घर को तो ये बात पता थी, लेकिन आयुषी के पति छत्रपाल के परिजन इस बात से बेखबर थे। दो दिन पहले जब इस हत्याकांड का खुलासा हुआ तब जाकर घर के दावे को भी पता चला कि आयुषी हत्याकांड में जिसका नाम सामने आ रहा है, उनका बेटा छत्रपाल ही है।

शोक, आयुषी के मर्डर से 10 दिन पहले ही उसकी मां ने छत्रपाल को फोन पर धमकाया था कि मेरी बेटी से बात मत करना, वह तुम्हारी वजह से परेशान रहती है।

पढ़िए, कैसे ऑन किलिंग से जुड़े आयुषी हत्याकांड में शुरू हुई दोनों की लव स्टोरी…

आयुषी का पति छत्रपाल बिल्कुल अनिल बिधूड़ी वैर थाने इलाके के तौयारी गांव का रहने वाला है। अभी उनके पिता हीनदेव सिंह कंसा के बजरंग कॉलोनी में घर बने हैं। छत्रपाल के करीबियों ने बताया कि छत्रपाल में अपनी शादी की जानकारी छिपाई जा रही थी। वहीं आयुषी के घर वाले इस शादी से नाखुश थे।

छत्रपाल के पिता इंडियन आर्मी में थे। जहां- जहां-जहां छत्रपाल के पिता की पोस्टिंग रही उन्होंने अपने परिवार को अपने साथ ही रखा, जिस समय छत्रपाल ने आयुषी से शादी की, उस समय छत्रपाल के पिता की पोस्टिंग दिल्ली में ही थी।

दिल्ली में छत्रपाल के दोस्तों की एक गर्लफ्रेंड थी। उसका दोस्त आयुषी था। वह अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने तो छत्रपाल और उम्रशी भी साथ होते हैं। इसी दौरान छत्रपाल और आयुषी की दोस्ती हो गई। 4 साल पहले दोनों ने अपना नंबर एक-दूसरे से बदला और इसी से दोनों के अफेयर की शुरुआत हुई।

दोनों डिस्को और पाव में मिले थे
छत्रपाल आयुषी के साथ डिस्को और पाव में जाता था। दोनों आज मिलने लगे और करीब आ गए। आयुषी भी पढ़ाई कर रही थी और छत्रपाल भी दिल्ली में बैंक कॉम्पिटिशन की पढ़ाई कर रहा था। दोनों इतने करीब आ गए कि दोनों ने शादी करने का फैसला कर लिया। करीब 1 साल 3 महीने पहले दोनों ने दिल्ली में आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली।

छत्रपाल ने शादी के बारे में परिजनों को नहीं बताया
शादी के कुछ दिनों बाद आयुषी ने तो अपने परिजनों को बता दिया, लेकिन छत्रपाल ने अपने परिजनों को नहीं बताया। आयुषी के परिजनों को शादी का पता चलने के बाद उनका घर बात होती रही। बताया जा रहा है कि इसी बात से नाराज उम्र के पिता ने सीने में गोली मारकर उसकी हत्या कर दी।

अब ये भी बात सामने आ रही है कि बेटी की हत्या से 10 दिन पहले ही आयुषी की मां ने छत्रपाल को फोन कर कहा था कि वह अपनी लड़की से बात न करें। क्योंकि उनकी वजह से उनकी बेटी उम्र में तनाव में रहती है।

उसने शादी के बाद एक बार भी अपनी सुसुराल नहीं दी थी और मायके में ही रह रही थी।

उसने शादी के बाद एक बार भी अपनी सुसुराल नहीं दी थी और मायके में ही रह रही थी।

आयुषी की हत्या के बाद छत्रपाल के परिजनों का पता चला सच्चाई
आयुषी की हत्या के बाद आखिरकार पूरा मामला खुल गया। इसमें छत्रपाल का नाम भी सामने आया। छत्रपाल का नाम सामने आने के बाद उसके परिजनों को लगा कि छत्रपाल ने उम्र से शादी की थी जिसके पिता ने उसकी हत्या कर दी है। तब जाकर छत्रपाल के परिजनों को उसकी शादी के बारे में पता चला।

दूसरी जाति में की शादी, इसी बात से नाराज थे माता-पिता
22 साल की उम्र में छत्रपाल और छत्रपाल के बीच लंबे समय तक अफेयर के बाद उन्होंने शादी करने का फैसला लिया था। आयुषी के माता-पिता इस शादी के पक्ष में नहीं थे। आयुषी शादी के बाद एक बार भी मेरा सुसुराल नहीं गया और मायके में ही रह रही थी। 17 नवंबर की दोपहर उम्रषी की मां से झगड़ा हुआ। पिता को पता चला तो उन्होंने आयुषी को समना। उसने नहीं देखा तो पिता ने गुस्से में लाइसेंसी रिवॉल्वर से आयुषी की छाती में दो गोलियों पर हस्ताक्षर किए। उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

पुलिस मां और भाई को लेकर रविवार की देर शाम पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंची और शव की शिनाख्त की।

पुलिस मां और भाई को लेकर रविवार की देर शाम पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंची और शव की शिनाख्त की।

पिता बोले-बेटी जलील करती थी, मां ने कहा- सब कुछ नाराज हो गया
आयुषी बीसीए में पढ़ रही थी। पहचान करते समय मां और भाई की आंखों में आंसू आ गए। वह एक-दूसरे के गले लगकर रोने लगे। आयुषी हत्याकांड में सबसे चौंकाने वाली बात यह थी कि पुलिस अपने परिवार तक पहुंचती है। यानी परिवार ने पुलिस को आयुषी के लापता होने के बारे में कोई जानकारी नहीं दी थी। न ही मिसशुदगी दर्ज की गई थी।

जिस रिवॉल्वर से गोली मारकर हत्या कर दी गई, उसका लाइसेंस देवरिया में बना था। पुलिस पूछताछ के दौरान माता-पिता दोनों रोते रहे। उन्होंने बताया कि जो कुछ हुआ, सब एकाएक और गुस्से में हुआ। पिता ने बताया कि बेटी जलील करती थी। उन्हें कई बार समना, लेकिन वह प्रस्ताव को तैयार नहीं थे।

दुकान से पॉलीथीन और लाश पोर्टफोलियो में पैक की
आयुषी की हत्या के बाद पिता के घर के पास की दुकान से पॉलीथीन खरीदकर दिखता है। दोपहर में उसकी लाश पोर्टो में पैक की गई। देर रात 3 बजे कार में पोर्टोर्ट पर रखा गया और 150 किलोमीटर दूर मुथरा के पास यमुना एक्सप्रेस-वे पर सुबह 5 बजे फेंक दिया गया। इसके बाद सुबह 7 बजे दिल्ली चले गए। कार पिता जा रहा था और मां आगे वाली सीट पर बैठी थी।

आयुषी दिल्ली के ग्लोबल कॉलेज की होस्ट थी।  वह बीसीए की पढ़ाई कर रहा था।

आयुषी दिल्ली के ग्लोबल कॉलेज की होस्ट थी। वह बीसीए की पढ़ाई कर रहा था।

आयुषी का नीट में नाम आया, काउंसिलिंग में नहीं लिया गया
पूछताछ में यह भी सामने आया कि आयुषी ने नीट एजेक्शन स्पष्ट रूप से लिया था, लेकिन काउंसिलिंग में नहीं गई। माता-पिता ने काउंसिलिंग में शामिल होने के लिए काफी मान-मनौवल की, लेकिन आयुषी को नहीं चुना। पिता ने बताया कि वह हर बात पर परिवार का विरोध करने लगी थी।

ऐसे खुला राज: 300 सीसीटीवी खंगाले
पोर्टोंटे में मिले वीडियो का खुलासा पुलिस के लिए बड़ा चैलेंज था। पुलिस ने लड़की की शिनाख्त के लिए पुलिस के 100 जवानों की 14 टीमें बनाई थीं। पुलिस ने दावे से लेकर टोल प्लाजा तक करीब 300 सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग खंगाली।

इसके बाद भी लड़की की शिनाख्त नहीं हो पा रही थी। तभी पुलिस को एक कॉल आई। इसमें बताया गया है कि बदरपुर के रहने वाली लड़की दो दिन से गायब है। यह सूचना ही पुलिस के लिए काफी थी। इसके आधार पर पुलिस की एक टीम लड़की के घर पहुंचती है।

मुत में-एक्सप्रेस के किनारे 18 नवंबर को लाल पोर्टोर्ट में आयुषी का शव मिला था।  वह 17 नवंबर से लापता था।

मुत में-एक्सप्रेस के किनारे 18 नवंबर को लाल पोर्टोर्ट में आयुषी का शव मिला था। वह 17 नवंबर से लापता था।

ये था मामला
18 नवंबर को याया एक्सप्रेस-वे पर शुक्रवार सुबह पोर्टो में लड़की की लाश मिली थी। शुरुआती जांच में सामने आया कि गोली मारकर हत्या की गई। हत्या के बाद लाश को हाइवे पर लाकर फेंका गया।
सबसे पहले एक्सप्रेस-वे पर राया कट की सर्विस रोड पर जो चाहे उसमें पड़ा पोर्टोर्ट देखा था। नया पोर्टमापोर्ट मेकर को समझें कि किसी कार की डिग्गी से गिर जाएगी। लेकिन, जब पास जाकर देखा तो पोर्टमॉर्टम से खून निकल रहा था। जब पुलिस घटनास्थल पर पहुंचें और पोर्ट्स खोले तो उसमें 22 साल की लड़की की लाश पड़ी थी।

पुलिस ने जब जांच की तो सामने आया कि यह लाश उम्र का चौधरी है और उसके पिता ने ही गोली मारी थी। इस घटना में मां ने भी साथ दिया था। हत्या दिल्ली के बदरपुर स्थित घर पर की गई। बाद में लाश को लाल पोर्टो में पैक करके 150 किलोमीटर दूर मुथ के राया इलाके में याया एक्सप्रेस-वे पर फेंक दिया गया था।

ये भी पढ़ें

दूसरे धर्म में शादी करने पर नशे में गोली मारी:जयपुर की घटना; पति लतीफ का अपने बड़े भाई पर आरोप

रायपुर में बुधवार सुबह 26 साल की उम्र में बाइक सवार दो युवकों ने पीछे से गोली मार दी। उसकी हालत गंभीर है। पति का आरोप है कि उसके साथ मिलकर उसका बड़ा भाई भी शामिल है। उनका यह भी कहना है कि हमने करीब एक साल पहले कोर्ट मैरिज की थी। (पूरी खबर पढ़ें)

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here