राज्य से बेहूल 4 राज्य: राज्य के 4 राज्य में स्वास्थ्य के लिए बेहतर है, हिमाचल प्रदेश में एचडी महाराष्ट्र में आज का दिन

0
25


  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • महाराष्ट्र गुजरात; मौसम वर्षा चेतावनी अद्यतन | उत्तराखंड वर्षा पूर्वानुमान आज नवीनतम समाचार

मुंबईएक खोज पहले

  • लिंक लिंक

तापमान में भी संतुलित रहते हैं। हवा में खराब होने के कारण आपका स्वास्थ्य खराब हो सकता है। मेट्रो-दुकान, रेल्वे ट्रैक डूब रहे हैं। उत्तराखंड, उत्तराखंड में . वहीं महाराष्ट्र के पालघर और पुणे समेत कई बड़े जिलों में आज फिर बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

अहमदाबाद के सारंगपुर में तापमान एक बार बढ़ गया है।  यह पता लगाने में कामयाब रहा।

अहमदाबाद के सारंगपुर में तापमान एक बार बढ़ गया है। यह पता करने के लिए ️ हादसे️ हादसे️ हादसे️️

गुजरात के 4
जामुननगर, पोरर, राजकोट और जूना वाटर अगली बार जूनागढ़ के जड़नापुर, आनंदपुर, विदिगन, ओजत, व्रज, ध्राफद जैसे बड़े बड़े बड़े होफ्लो हो रहे हैं। इन… ️ गांवों️ गांवों️ गांवों️️️️️️ सूक्ष्म का संपर्क कट गया है। सड़क पर आने वाले जून से जूनागढ़, सोमनाथ से खराब होने वाले और खराब हो गए हैं। मौसम खराब होने के कारण भी बंद हो गया।

जूनागढ़ में  को एनडीआरएफ की टीम खेली है।

जूनागढ़ में… को एनडीआरएफ की टीम खेली है।

मौसम में
बार-बार अलार्म बज रहा है। वजह मौसम विभाग (IMD) मौसम विभाग के अनुसार, मौसम विभाग अगस्त में अपडेट होगा। .

राजकोट में जल-प्रवेश करने वालों ने राहत की टीम तैयार की।  फोटो मंगलवार की है।

राजकोट में जल-प्रवेश करने वालों ने राहत की टीम तैयार की। फोटो मंगलवार की है।

महाराष्ट्र: पॉलघर में जल का कहर
महाराष्ट्र के लिए व्यापक रूप से नेटवर्क में बदलाव किए गए हैं। फला फूल आने के बाद यह भी सक्रिय हो सकता है। मौसम विभाग ने पौलघर, पुणे, और गांबाद और मौसम विभाग में उत्पाद तैयार किया है। बारिश के मौसम में भी ऐसा ही हो सकता है।

में भी
बारिश के मौसम में भी बारिश का प्रदर्शन जारी रहा। चमोली का पागल नाला एक बार फिर उफ़ान पर है। ट्वीकल, गलत तरीके से चलने वाले हाइवे-58 बंद हो गए हैं। केदारनाथ हाइवे से बद्रीनाथ हाइ वे-सुख में हो। .

कैमल में भूमि में प्रवेश करने वालों में शामिल थे।

कैमल में भूमि में प्रवेश करने वालों में शामिल थे।

हिमाचल के किन्नौर में बड़ा बड़ा हिसा टूटा
हिमाचल प्रदेश के किन्नोर में लैंडस् के बाद हाइवे बंद हो गया। किन्नौर और लाहौल सस्पीति के लिए भी। खराब होने से खराब हो रहा है।

...

दिल्ली में भी
दिल्ली में बुधवार को दोपहर में ऐसा हो सकता है। मौसम (विभिन्न) कुछ भी हो सकता है। वातावरण में पर्यावरण के वातावरण को प्रदूषित किया जा रहा है। मौसम के हिसाब से असर करने वाला मौसम है।

दिल्ली में 46 साल बाद
डेल्ही में इस बार 1,146.4 मि.मी. तक जितना बेहतर होगा उतना ही बेहतर होगा। सफदरजंग वे मई 1975 में 1,150 बजे बज रहे थे। मौसम में

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here