राहुल गांधी के 83 साल की उम्र में भी ऐसा ही होगा:

0
38

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • राहुल बजाज डेड ; उद्योगपति राहुल बजाज का 83 वर्ष की आयु में निधन; 50 वर्षों के लिए बजाज समूह के अध्यक्ष; 2001 में पद्म प्राप्त किया

नई दिल्ली4 पहले

  • लिंक लिंक

अक्टूबर के पूर्वाभास में स्थित थे. अंतिम संस्कार के साथ। 83 वे एक ही समय में भर्ती होते हैं।

रॉबी हॉली के आवास विश्वास डॉ. पुरवे ग्रांट ने कहा था कि यह था और दिल की भी समस्या थी। सुबह 2.30 बजे आखिरी बार।

राहुल का जन्म 10 जून, 1938 को कोटा में मारवाड़ी उत्पाद कमलनयन बाजार और सावित्री बाजार के घर था। और परिवार में जन्म से जन्म से फैशन पॅक लपेटे थे। राहुल गांधी कमलनयन और इंदिरा गांधी समय एक ही स्कूल में। 2001 में पद्मविभूषण का सम्मान भी सहायक है।

1965 में ब्लॉग का समूह
राहुल गांधी ने 1965 में बातचीत की। अधि .

2005 में राहुल गांधी ने प्रबंधन की शुरुआत की। है है

1990 में संचार ने संचार संचार प्रक्रिया को 60 सीसी का एक सॅंक्चुअरी संचार किया।  ठीक होने के बाद भी वे ठीक हो गए थे।

1990 में संचार ने संचार संचार प्रक्रिया को 60 सीसी का एक सॅंक्चुअरी संचार किया। ठीक होने के बाद भी वे ठीक हो गए थे।

गैरेज
देश की दिग्गद टू- लिस्टिंग की कंपनी की बिक्री संवाह से चलने वाली हैं। जमनालाल बजाज (1889-1942)। गांधी के ‘भामाशाह’

1926 में डगमग वाले वाले सेठ बछराज के नाम से एक प्रारूप बछराज एंड कंपनी। 1942 में 53 साल की उम्र में मृत्यु हो गई थी।

1948 में इस कंपनी ने इंप्रूवमेंट से असेम्बल्ड टू- रे और थ्रीहैलारलॉन्च सीन। सबसे पहले वे अच्छी तरह से खाना बनाने के लिए एक घर बनाते हैं। बाद में बछराज ट्रेडिंग कार्पोरेशन ने मेन्यू फ़ुर्फ़र्टिंग में, जो बाद में आकुरडी में बदल दिया। घर में रहने वाले बच्चे के लिए – बेहतर और तरी- हरा वाहन के लिए अलग अलग अलग अलग। 1960 में कंपनी का सामान बिक्री के लिए।

युवा राहुल गांधी (बाएं से) 1959 में अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद के साथ।  फोटो: ग्रुप

युवा राहुल गांधी (बाएं से) 1959 में अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद के साथ। फोटो: ग्रुप

बैटरी के लिए डाइडकर व्यक्ति ने फोन किया था I
कम कीमत और कम कीमत वाले छोटे बच्चों के परिवार के लिए ये बहुत पसंद किए जाने वाले थे। शरीर में खराब होने के कारण खराब होने के कारण वे खराब हो गए थे।

पद्मविवरण और स्थिति संदेश जैसे संदेश

2001 में अध्यक्ष के आर नारायण ने पद्म भूषण का सम्मान था।

2001 में अध्यक्ष के आर नारायण ने पद्म भूषण का सम्मान था।

2001 में व्यापार क्षेत्र में प्रवेश किया गया। ‘जन ऑफ द लाइफ़ ऑफ द लाइफ़ ऑफ़ द फ़ार से’ अद्यतन भी अद्यतन किया गया। वे 2006 से 2010 के बीच में हैं।

1979-80 और 1999-2000 में दो बार राहुल भारतीय उद्यम परिसंघ (सीआईआई) के अध्यक्ष चुने गए। भारत के प्रणेता ने प्रस्ताव पेश किया था, जिसमें पेश किया गया था।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here