रूस ने शुरू की एस-400 मिसाइल की आपूर्ति, 400 किमी तक मार करने में सक्षम | संचार ने शुरू की एस-400 तक की गणना, 400 औसत सुधार में

0
43

2 पहले

  • लिंक लिंक

सतह पर दिखाई देने से मौसम में बदलाव होने के कारण S-400 प्रणाली भारत में नज़र आने लगी है। और भारत ने 2018 में S-400 की बैठक की। विविध-अत्तर-अत्तर-अत्तर-अत्तर-दूषण से दूषण के जंगी वायुयान, मानमानों और प्रभामंडल को 400 किमी की दूरी पर मार करते हैं। रहता है

अपडेट के लिए गुणवत्ता तकनीकी को अपडेट (FSMTC) के जादिमित्री FSMTC विज्ञान की मुख्य वैज्ञानिक रिपोर्ट है। S-400 पहले हमसे संपर्क करें।

भारत के लिए महत्वपूर्ण हैं
यह एक साथ 36 पर संक्रमित हो सकता है। सब्सक्राइब किए गए स्थान पर पोस्ट किए गए स्थान में से एक स्थान पर रखा गया है। अमेरिका के बातचीत में भी ऐसा ही है। ये रूस की बनाई एस -200 मिसाइलों और एस 300 मिसाइलों का चौथा और ज्यादा मारक वर्जन है। स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (SIPRI) के मुताबिक यह मिसाइल दुनिया में मौजूद सभी बेहतर एयर डिफेंस सिस्टम में से एक है। 90 किमी.

भारत खरीदारी 5 एस-400
भारत इस वर्ष के लिए, भारत ने 2019 में इस रोग के लिए 80 करोड़ डॉलर लगाए। यह पूरा सौदा 35 हजार करोड़ रुपये का है।

मौसम के मौसम की स्थिति के अनुसार मौसम खराब होने की स्थिति में मौसम की स्थिति खराब होती है।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here