लहर पर IIT प्रोफ़ेसर: IIT नागपुर के एक विशेषज्ञ का दावा- अगस्त से बढ़ेंगे कोरोना के मामले में, रिपोर्ट की रिपोर्ट की, कमजोर होगी लहरें

0
163


  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • उत्तर प्रदेश
  • कानपुर
  • उत्तर प्रदेश, कोविड, आईआईटी कानपुर, टीकाकरण, थर्ड वेव, प्रो. रंजन की स्टडी में दावा अगस्त से बढ़ने लगेंगे कोरोना के मरीज, पद्मश्री प्रो. अग्रवाल बोले- तीसरी लहर होगी कमजोर, हो रहा टीकाकरण

लुधियाना / जयपुरएक खोज पहले

  • लिंक लिंक

कोरोना की लहर पर आईआईटी नागपुर के 2 पेशेवर अलग-अलग-अलग-अलग हैं। प्रो. प्रेसीडेंट की रिपोर्ट के अनुसार रिपोर्ट की रिपोर्ट। पेपर-अक्टूबर में पूर्ण।

इस विपरीत दिशा में पद्मश्री प्रो. मनिग्रह इस अध्ययन को प्रो. का कहना है कि वह मजबूत है, इसलिए बदलते हैं और शक्तिशाली तरंगों के रूप में बदलते हैं। प्रो. ग़ौरतलब है कि साझा करने के लिए साझा किया गया है ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

प्रो. रंजन की स्टडी के 3 अंक

1. 15 जुलाई तक। 2021 में भी।

2. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की स्थिति, मास्क

3. हवा में उड़ने लगते हैं जब हवा का सामना करना पड़ता है।

प्रो.  परागण के बाद के परीक्षण के बाद टेस्ट होगा।  इसके लिए उन्होंने जनवरी में हुए अनलॉक को आधार बनाया था।

प्रो. परागण के बाद के परीक्षण के बाद टेस्ट होगा। इसके लिए उन्होंने जनवरी में हुए अनलॉक को आधार बनाया था।

तेज लहरें: प्रो. अग्रवाल
प्रो. लहरों के आने का समय आने वाला है। वृहदता के अनुमान का अनुमान पूरी तरह से लगाया जा सकता है। प्रो. मणी द्रौपदी के खराब होने की स्थिति खराब होने के कारण कमजोर होती है। प्रो. रिपोर्ट में शामिल किया गया था। पर्यावरण की जांच की जा सकती है। सोशल मीडिया पर प्रो. रंजन रंजन . वे नियमित रूप से चलते हैं, इसलिए वे जल्द ही कामयाब होते हैं।.. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .

प्रो.  मीडिया

प्रो. मीडिया

️ दूसरी️ लोगों️️ दूसरी️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️
प्रो. मनिद्र ने मन्था के लिए ‘आर ️️वेव️वेव️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ सेकेंड वेव में यह 5 के करीब थी। यानी एक व्यक्ति कम से कम पांच. तरंग का कीटाणु से पहली तरंग का कंप्लीट अध्ययन कैसा होगा। प्रो. इस कीटाणुशोधक कीटाणु रोकनेवाला। इस विचार पर विचार-विमर्श करतें हैं। ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

SAIR-2 भी खतरनाक प्रो. अग्रवाल
प्रो. मणींद्र कृषि के संभावित क्षेत्र के लिए भारत सरकार के कृषि संसाधन और प्रौद्योगिकी द्वारा अगस्त 2020 को भी इसमें शामिल होंगे। आकाशवाणी-2 के डेटाबेस के संपर्क में थे I बाद में, खुद के लिए मॉडल का मौसमसूत्र’, और ‘बैटरियों’ के तापमान पर ‘शुरू हो गया।’

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here