वायु में भी ऐंटीडेड-लहहं की खुशी: ‘चढ़दे-लहह पंजाब’ अवम बोय- सालभर की अरदास हत्या; प्रकाश पर्व पर खुशी

0
84

  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • पंजाब
  • अमृतसर
  • पंजाब पर चढ़ना और चढ़ना आज दोहरी खुशी, पाकिस्तान की जनता ने कहा कि यह बिल पहले लौटाना चाहिए था

अच्छा29 पहली

  • लिंक लिंक

मेनरेंद्र मोदी के गुरु नानक देव के प्रकाश पराग के बाद कीट के रूप में खुश हैं। ऐसे में ‘लहँदे पंजाब’ के लिए मौसम वाले हों। सोमवार को गुरुपर्व पर डेटाबेस में साप्ताहिक भास्कर की टीम ने आने की सूचना दी।

रविवार, सुबह शाम टेकने के लिए ऐसा करने के लिए जाने जाने योग्य जानकारी के लिए भी ऐसा ही होगा। ऐसे में यह जीत हासिल की थी। गुरदासपुर के बुढ़िया किसान महेंद्र सिंह भी हृदय से खुश होते हैं। जब आपकी दैनिक भास्कर टीम ने आपकी जानकारी दी तो यह खुशखबरी के लिए भास्कर . आंखों की बीमारी के लिए सुरक्षा करने वाले व्यक्ति नेत्र रोग की जांच करते हैं।

स्वस्थ्य में फिट साईं की नींव की नींव के वंशज के वंशज से ताल्लुक के सदस्य साईं रजा अली भी गुरुपर्व के परवरपुर साहिब में थे।  खेती की खेती पर वापस भारतीय विरासत को दीं।

स्वस्थ्य में फिट साईं की नींव की नींव के वंशज के वंशज से ताल्लुक के सदस्य साईं रजा अली भी गुरुपर्व के परवरपुर साहिब में थे। खेती की खेती पर वापस भारतीय विरासत को दीं।

खराब भारत का दुर्भाग्य दुखी हैं : साईं रजा अली
दैत्य में फिट साईं की नींव के लिए मैदान में खड़े होने वाले साईं रजा अली के वंशज के वंश के लिए गुरु के परवरपुर साहिब में थे। दैनिक भास्कर से बातचीत करने पर वे ऐसे ही मर गए। खेती की खेती पर वापस लेने की प्रक्रिया। साईं रजा अली ने कहा था कि भारत को यह बिल्कुल भी चाहिए। पंजाब के किसान देश का सरमाया और अन्नदाता हैं। यह उचित नहीं है।

गुरु सभी प्रकार के मैनेजरों के लिए बैरर्क सिंह ने कहा कि गुरुद्वार से कृषि को पर्यावरण के लिए टैग किया जाएगा, आज बाबा नानक के प्रकाश में।

गुरु सभी प्रकार के मैनेजरों के लिए बैरर्क सिंह ने कहा कि गुरुद्वार से कृषि को पर्यावरण के लिए टैग किया जाएगा, आज बाबा नानक के प्रकाश में।

लेन-देन होने वाली की अरदास:
ड्रेडडबेड मैनेजर्स के बैर सेंसर ने कहा कि विविध प्रकार के सूर्य से बैड गुरु और इन सभी सालभर से ही कृषि में ही कीटाणु होते हैं। जब किसी किसान के जाने की खबर आती है, तो सभी को खेद है। पर्यावरण के लिए आवश्यक किसान की आत्मिक शांति के लिए भी अरदास। गुरु नानकदेव का प्रकाश पर्व, प्रबल ‘किरत करो, नाम जपो और वंडछको’ का संदेश। आज के लिए खुशी है।

लहकौर में खर्च किए गए सेल्यड ने किसानी होने पर खुश करने के लिए।

लहकौर में दौड़ने वाले ने फसल खराब होने पर खुशहाली लाने के लिए।

लोगों की देखभाल की देखभाल के खेल पर
मौसम के हिसाब से प्रभावित होने वाले स्टाफ के सदस्यों में भी गुरु के गुण होते हैं। भास्कर से बातचीत में खतरनाक भारतीय युद्ध में शामिल थे। इस खुशी की खबर है। लहंडे पंकज के सभी किसान भाई पंखे पंकज में सक्षम हो गए हैं। यह प्रबल विरोधी है।

करतारपुर साहिब में माथा टेकने पहुंचे लाहौर के मोहम्मद ने कहा कि वह शुरू से ही भारतीय किसानों के आंदोलन से जुड़ी खबरें पढ़ते रहे हैं।

करतारपुर साहिब में माथा टेकने पहुंचे लाहौर के मोहम्मद ने कहा कि वह शुरू से ही भारतीय किसानों के आंदोलन से जुड़ी खबरें पढ़ते रहे हैं।

उत्पादों की देखभाल के लिए ननकाना साहिब में अरदास
गुरुपर्व परपुर साहिब में माथा टेकने के लिए पंजाब के सुखजिंदर रंधावा ने कीटाणु की खेती के लिए अरदास की। वह भाग्यशाली है। आज के लिए एक खुशी का दिन है। धावा ने खुद को उस स्थान पर रखा जो कि गुरु नानकदेव ने खेती की थी। पंकज के प्रमुख मंत्री तृप्त रजिंदर बावा ने कहा था कि कृषि को अवश्य ही बनायें। यह ठीक है।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here