HomeIndia Newsवाराणसी में एनकाउंटर में 2 सगे भाई ढेर: दोनों सीने में लगी...

वाराणसी में एनकाउंटर में 2 सगे भाई ढेर: दोनों सीने में लगी गोली, तीसरा भाई भागा; तिकड़ी ने 13 दिन पहले दरोगा को मारी थी गोली

Date:

Related stories

19वीं सदी में बनी 2 मंजिला इमारत जल कर खाक हुई | 19वीं शताब्दी में बनी दो मंजिला इमारत जलकर खाक हो गई

प्रत्यक्षएक मिनट पहलेकॉपी लिंकअमेरिका के प्रत्यक्ष में रविवार सुबह...
  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • उतार प्रदेश
  • वाराणसी
  • दरोगा को गोली मारने के बाद पिस्टल लूटने वाला बदमाश मुठभेड़ में घायल, वाराणसी में पुलिस से आमने-सामने आए दो बदमाश; दोनों की हालत नाजुक

वाराणसी25 मिनट पहले

- Advertisement -

वाराणसी में सोमवार की सुबह पुलिस ने दो बदमाशों को ढेर कर दिया। गिनत भेलखा गांव के पास रिंग रोड हुआ। आमने- राष्ट्रपति की रूपरेखा 15 राउंड से ज्यादा की बैठक में बिहार निवासी दो सगे भाई मारे गए। दोनों का एक अन्य भाई पुलिस को चकमा देकर भाग गया है। पुलिस के मुताबिक, तिकड़ी हाल ही में पुरते की बाढ़ में कोर्ट की शौचालय की दीवार तोड़कर चालान हो गए थे। बिहार पुलिस को उनकी सरगर्मी से तलाश थी। बदमाशों की गोली से क्राइम का एक सिपाही भी घायल हो गया है।

- Advertisement -

- Advertisement -

बदमाश रोहनिया क्षेत्र में दरोगा को गोली मार कर सरकारी पिस्तौल, कारतूस, पर्स और मोबाइल लूट रहे थे। दोनों के पास से दरोगा की सरकारी पिस्तौल, 32 बोर की देसी पिस्तौल, एक बाइक, मोबाइल और कुछ डॉक्यूमेंट बरामद हुए हैं।

इस तस्वीर में अपराधी रजनीश उर्फ ​​बउआ सिंह और मनीष सिंह दोनों मारे गए हैं।  यह दोनों सगे भाई थे।

इस तस्वीर में अपराधी रजनीश उर्फ ​​बउआ सिंह और मनीष सिंह दोनों मारे गए हैं। यह दोनों सगे भाई थे।

तीनों भाई शातिर हत्यारे और लुटेरे हैं
पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश ने बताया कि बिहार पुलिस से मिली सूचना के अनुसार, गली के मोहद्दीनगर थाना के मोहद्दीनगर थाना के मोहालीपुर जिले के शिनाख्त में दस बदमाशों के मारे जाने के बाद रजनीश भाई रजनीश अउ बाऊ सिंह और मनीष सिंह के रूप में हुई है। पुलिस टीम बदमाश को चकमा देकर भाग निकला उनका भाई लल्लन सिंह है। तीनों भाई शातिर हत्यारे और लुटेरे हैं। बिहार पुलिस ने तिकड़ी के पुराने आपराधिक इतिहास को ज़ाया किया है।

पुलिस आयुक्त ए.  सतीश गणेश ने बताया कि दोनों बदमाशों की मौत हो गई।

पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश ने बताया कि दोनों बदमाशों की मौत हो गई।

पुलिस बदमाशों को रोकने का प्रयास किया था
पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश ने बताया कि दरोगा अजय यादव को गोली मार कर पिस्तौल लूटने की घटना को अंजाम देने वाले बदमाशों की तलाश में पुलिस टीमें लगातार लगी हुई थीं। आज सुबह सर्विलांस की मदद से पता चला कि घटना में 3 बदमाश भेलखा गांव के पास रिंग रोड से गुजर रहे हैं। इस पर कमिश्नरेट की क्राइम और बड़ागांव थाने की पुलिस टीम ने घेराबंदी कर बदमाशों को रोकने का प्रयास किया तो उसने फायरिंग शुरू कर दी।

पुलिस आयुक्त ए.  सतीश गणेश फोर्स के साथ जिला अस्पताल की मोर्चरी पहुंचे।

पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश फोर्स के साथ जिला अस्पताल की मोर्चरी पहुंचे।

पुलिस की जवाबी कार्रवाई में दो गंभीर रूप से घायल हुए। बदमाशों की गोली से गंभीर के सिपाही शिव बाबू भी घायल हुए हैं। पुलिस सभी को अस्पताल लेकर गई। अस्पताल में दोनों बदमाशों को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। डांट से भागकर एक बदमाश की तलाश के लिए पुलिस की 3 टीमें हंगामा कर रही हैं।

बदमाशों के पास से बरामद 9 एमएम ब्राउनिंग पिस्टल के मिलान की कार्रवाई के लिए उसे हेड आरमोरर के पास भेज दिया गया है। जांच के बाद आरमोरर ने पुष्टि की कि बदमाशों से बरामद 9 एमएम ब्राउनिंग पिस्टल दरोगा से लूट की गई थी। उदर, अस्पताल में डॉक्टरों ने बताया कि दोनों बदमाशों को सीने पर गोली मारने की साजिश रची गई थी। वहीं, सिपाही के दाहिने हाथ को छूते हुए निकली गोली थी।

  • एनकाउंटर से जुड़ी तस्वीरें देखें…
फोरेंसिक टीम एनकाउंटर के बाद स्थिति से सबूत ले रही है।

फोरेंसिक टीम एनकाउंटर के बाद स्थिति से सबूत ले रही है।

बदमाशों की बाइक वाराणसी में रिंग रोड के किनारे लगी।

बदमाशों की बाइक वाराणसी में रिंग रोड के किनारे लगी।

वाराणसी में रिंग रोड पर बदमाशों से दंड के बाद कमिश्नरेट के पुलिस अधिकारी चौकी पर पहुंचे।

वाराणसी में रिंग रोड पर बदमाशों से दंड के बाद कमिश्नरेट के पुलिस अधिकारी चौकी पर पहुंचे।

छापेमारी के बाद रिंग रोड पर बदमाशों की घेराबंदी की पुलिस हुई।

छापेमारी के बाद रिंग रोड पर बदमाशों की घेराबंदी की पुलिस हुई।

रिंग रोड पर पुलिस और बदमाशों के बीच मोटे-मोटे स्थगन के कारण रोक लगा दी गई थी।

रिंग रोड पर पुलिस और बदमाशों के बीच मोटे-मोटे स्थगन के कारण रोक लगा दी गई थी।

अपराध क्रम में शामिल होने और बड़ागांव थाने की पुलिस टीम को पुलिस कमिश्नर ने सम्मानित किया।

अपराध क्रम में शामिल होने और बड़ागांव थाने की पुलिस टीम को पुलिस कमिश्नर ने सम्मानित किया।

8 नवंबर की शाम को मारी थी दरोगा को गोली
लोक्सथाने में 2015 के शटर के दरोगा अजय यादव मूल रूप से प्रतापगढ़ जिले के भीमपुर गांव में रहने वाले हैं। उन्होंने रोहनिया थाना के जगतपुर इलाके में प्लाट खरीदा है। अब वहीं मकान बनवा रहे हैं। बीती 8 नवंबर की शाम वर्दी पहने अजय अपनी बुलेट से अपने शेड्यूल पर जा रहे थे।

दरोगा अजय यादव को गोली मार कर बदमाशों ने अपनी सरकारी पिस्तौल, कारतूस, पर्स और मोबाइल लूट लिया था।  (फाइल फोटो)

दरोगा अजय यादव को गोली मार कर बदमाशों ने अपनी सरकारी पिस्तौल, कारतूस, पर्स और मोबाइल लूट लिया था। (फाइल फोटो)

जगतपुर नहर क्षेत्र के पास नकाबपोश बदमाशों ने उन्हें घिनौना कर रोका। कहासुनी और गली गलौज के साथ ही तिकड़ी बदमाश अजय के साथ हाथापाई करने लगे। दो बदमाशों को अजय ने दबोच लिया था। उसी दौरान तीसरे ने उनके कमर से पिस्टल को निकालकर उनकी छाती में दाहिनी ओर गोली मार दी थी।

शुरू करने के बाद अस्पताल में भर्ती दारोगा अजय का हाल चाल जानने के लिए पुलिस आयुक्त ए.  सतीश गणेश उनके पास पहुंचे थे।  (फाइल फोटो)

शुरू करने के बाद अस्पताल में भर्ती दारोगा अजय का हाल चाल जानने के लिए पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश उनके पास पहुंचे थे। (फाइल फोटो)

मारने के साथ ही बदमाश गोली अजय की सरकारी पिस्तौल, 10 कारतूस, पर्स और मोबाइल के लिए छीन ली गई थी। इसके बाद असलहाते हुए भाग निकले। अस्पताल में ऑपरेशन कर उसे गोली मारी गई और अब वह स्वस्थ है। घटना के खुलासे के लिए पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश ने इंस्पेक्टर उपेंद्र सिंह यादव के नेतृत्व में 10 तेज तर्रार दरोगा की एसआईटी को अधिकृत किया था।

आखिरी बार इनामी सोनू सिंह का ढेर लगा था

वाराणसी में आखिरी बार आठ महीने पहले दो लाख का इनामी बदमाश मनीष सिंह या सोनू ने पंगा लिया था।

वाराणसी में आखिरी बार आठ महीने पहले दो लाख का इनामी बदमाश मनीष सिंह या सोनू ने पंगा लिया था।

वाराणसी में इससे पहले 21 मार्च 2022 को यूपी-एसटीएफ ने लोहता क्षेत्र में नरोत्तम पुरुशवासी दो लाख के इनामी बदमाश मनीष सिंह अरे सोनू को पहचान में गिरा दिया था। 36 क्रिमिनल मुकदमों के फैसले से मनीष के पास कारबाइन और .32 बोर की फैक्ट्री में पिस्टल और 20 कारतूस बरामद हुए थे।

जौनपुर में 1 लाख का इनामी जमा किया गया था

जौनपुर में 30 सितंबर को 1 लाख का इनामी बदमाश विनोद सिंह ऊ लल्ला को पुलिस ने मार दिया था। उस पर 15 से अधिक संभावनाएँ दर्ज की गई थीं। वह थाना सरपतहां क्षेत्र का रहने वाला था। यहां पढ़ें पूरी खबर

प्रेमिका को छत से देखने वाले के साथ एनकाउंटर

लखनऊ में लड़की की चौथी मंजिल से बारीकियों के सूफियान को पुलिस ने एक गठजोड़ में पकड़ लिया है। राइट पैर में गोली लगी है। केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में उसकी जांच की जाती है। शुक्रवार सुबह ही पुलिस आयुक्त की ओर से सूफियां पर 25 हजार का इनाम घोषित किया गया। यहां पढ़ें पूरी खबर

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here