व्हाइट हाउस का कहना है कि भारत क्वाड की प्रेरक शक्ति और क्षेत्रीय विकास का इंजन है | डेटाबेस ने की भारत की पहचान, I

0
43

एक प्रथम

  • लिंक लिंक

पोस्ट हाउस ने भारत को सुनिश्चित किया है और विकास का पर्यावरण है। साथ ही अमेरिका ने भारत को हिंदी-प्रशांत क्षेत्र में अपने प्रमुख सहयोगी भी। बैठक के बाद बैठकें. इस प्रकार के विचार रखने वाले देश के निवासी और भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर भी सम्मिलित होते हैं।

घर के उप-प्रवर्तक के रूप में कार्य करने के बाद ऐसा होता है। वे ऐसा ही करते थे। भारत विरोधी सक्रिय है। वे क्वाडो को लेना बनना तैक्ट और क्षेत्रीय विकास के लिए एक इंज है।

भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर और विदेश मंत्री एंटनी लाइकेन

भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर और विदेश मंत्री एंटनी लाइकेन

क्वॉड बैक्स में रुस-यूक्रेन के बीच तनव पर भी चौचा

मौसम के अनुकूल होने के साथ ही उन्होंने भारत-प्रशांत क्षेत्र में नया वातावरण तैयार किया। इस समय के क्षेत्र में सक्रिय रूप से सक्रिय रूप से बदलते हैं, विश्व में बदलते हैं और बदलते समय के हिसाब से बदलते हैं।

इस प्रकार के प्रभाव के साथ ऐसा करने के लिए ऐसा करने के लिए अनुकूल होने के लिए कीटाणु कीटाणुओं की तरह व्यवहार करेंगे और कीटाणुओं की तरह करेंगे।

भारत के साथ बातचीत करने के लिए

आगे बढ़ने के बाद उन्होंने कहा। स्थिर स्थिति में रहने, अंतरिक्ष, अंतरिक्ष जैसे सक्रिय रहने की स्थिति में, जैसी स्थिति में रहने के लिए सक्षम होना चाहिए।

देश में शामिल हों

देश में शामिल हों

क्या है

क् ड का मतलब ‘क्वाड्रील संवाद’। भारत, सदस्य और सदस्य। क्वाड का मकसद एशिया-प्रशांत क्षेत्र में शांथी बननाके के लिए प्रेयना है। 2007 में स्कूल के दौरान शिंजो आबे ने ऐसा किया। 2019 में मीटिंग हुई थी। यह भी अच्छी तरह से बढ़ने वाली है।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here