6.7 C
London
Tuesday, March 14, 2023
HomeIndia Newsशिक्षा राज्य मंत्री से सवाल पर पत्रकार गिरफ्तारियां: ब्योरा मांगा; पुलिस...

शिक्षा राज्य मंत्री से सवाल पर पत्रकार गिरफ्तारियां: ब्योरा मांगा; पुलिस ने घायल का मामला दर्ज किया, हथकड़ी पहनाई

Date:

Related stories


संभल12 घंटे पहले

पुलिस ने यू-ट्यूबर पत्रकार संजय राणा को 13 मार्च को गिरफ्तार किया था।

माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री से कामकाज का ब्योरा संदेह पर यूपी पुलिस ने एक यू ट्यूब पत्रकार को गिरफ्तार किया है। उसका कोडेड हथकड़ी पहनावा रस्सियों से हाथ बांधकर ले गया। इस पत्रकार के खिलाफ 13 मार्च को एफआईआर दर्ज की गई थी। इसका एक वीडियो भी सामने आया था। यू ट्यूबर को कल रात गिरफ्तार किया गया था। वहीं आज उसे जमानत दे दी गई है।

इस मामले में समाजवादी पार्टी ने कहा कि यह बीजेपी सरकार में आपात और रवैया नहीं है तो और क्या है? वहीं प्रिंयका गांधी ने भी ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है।

यह पूरा मामला संभल की कोतवाली चंदौसी क्षेत्र गांव बुधनगर खंडवा का है। यूपी सरकार में माध्यमिक शिक्षा राज्य की गुलाब देवी एक चेक डैम के उद्घाटन में शिरकत करने पहुंची थी। वहां एक यू-ट्यूबर पत्रकार सुरेश राणा ने हाथ में माइक आईडी लेकर शिक्षा राज्य मंत्री के कार्यक्रम में विकास कार्यों पर सवाल किए जाने की झड़ी लगा दी थी, यही नहीं लोगों से हमी भरवाई थी।

पुलिस ने यू-ट्यूबर संजय राणा को गिरफ्तार कर लिया है।

भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के जिला महामंत्री ने की थी
भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के जिला महामंत्री शुभम राघव ने यू-ट्यूबर पत्रकार संजय राणा के खिलाफ कोतवाली चंदौसी पुलिस को तहरीर देकर मारपीट का मामला दर्ज किया था। इसके बाद पुलिस ने संजय राणा के खिलाफ मारपीट की और गाली गलौज कर मुकदमा दायर किया। यू ट्यूबर को कल रात गिरफ्तार किया गया था। वहीं आज उसे जमानत दे दी गई है।

यूट्यूबर पत्रकार शिक्षा राज्य मंत्री से ये सवाल किए थे…
YouTuber पत्रकार ने शिक्षा राज्य से गांव में विकास न मांगा और वादाखिलाफी के आरोप लगाए जाने की लंबी-चौड़ी झड़ी लगा दी थी। यू ट्यूबर ने मंत्री से सवाल पूछा कि आपने कहा था कि बुद्धनगर खंडवा गांव मेरा अपना गांव है। इसे आपने गोद भी लिया था। आप मंदिर पर दौड़ते हैं ली थी कि ये गांव मेरा है और मैं इस गांव की हूं। इसका विकास करवाओगी।

लोगों से हर काम कहने का वादा किया था। चुनाव जीतने के बाद आपने कहा था कि मंदिर वाली सड़क को पक्का करवाऊंगी। अभी तक यह सड़क है। इस पर चलना भी मुश्किल है। देवी मां के मंदिर की बाउंड्री नहीं हुई है। जिसका आपने वादा किया था। जिससे गांव वाले परेशान हैं। इसके बाद यू ट्यूबर ने शिक्षा राज्य मंत्री के सामने ग्रामीण लोगों के हाथ खड़े होकर कहा कि कौन-कौन सहमत हूं, मैं इस बात से सहमत हूं। वहां मौजूद कूछ गांव वाले ने भी हाथ उठाया था और कहा था कि गांव में कोई काम नहीं हुआ है।

पत्रकार के सवाल के कुछ देर बाद शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि मैं तुम्हारा दायरा बहुत देर से पहचान रहा था

पत्रकार के सवाल के कुछ देर बाद शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि मैं तुम्हारा दायरा बहुत देर से पहचान रहा था

शिक्षा राज्य मंत्री का जवाब
पत्रकार के सवालों के करीब दो मिनट बाद शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि मैं तेरी दावेदार बहुत देर से पहचान बना रही थी, जब तुम वहां पहुंच गए थे, तभी से मैं देख रही थी। राज्यमंत्री ने कहा कि धीरे-धीरे काम हो रहा है। गांव में विकास के खांचे हो रहे हैं। गांव को मेरा गोद लिया था, मुझे याद है। सब गांव मेरे है। काम अनुमान लगाया जा रहा है।

माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री ने देवी को एक चेक डैम के उद्घाटन में शिरकत किया था।  वहां एक यू-ट्यूबर पत्रकार सुरेश राणा ने सवाल किया था।

माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री ने देवी को एक चेक डैम के उद्घाटन में शिरकत किया था। वहां एक यू-ट्यूबर पत्रकार सुरेश राणा ने सवाल किया था।

स्पा ने ट्वीट किया
माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री से जुड़े इस मामले में समाजवादी पार्टी की मीडिया सेल ने ट्वीट करते हुए बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है। सपा ने ट्वीट कर कहा कि ”संभल में बीजेपी सरकार की मंत्री गुलाब देवी ने विकास के मुद्दों पर सवाल पूछे जाने पर पत्रकारों को जेल में डाल दिया है। बीजेपी सरकार में अघोषित आपात स्थिति और तानाशाही नहीं तो और क्या है? बीजेपी सिर्फ चैटुकार पत्रकारिता चाहती है, लेकिन इनसे सवाल पूछना मना है।

स्पा के मीडिया सेल ने ट्वीट किया था, ऑल ऑलेश यादव ने रिट्वीट किया था।

स्पा के मीडिया सेल ने ट्वीट किया था, ऑल ऑलेश यादव ने रिट्वीट किया था।

प्रिंयका गांधी ने ट्वीट किया
प्रिंयका गांधी ने ट्वीट कर लिखा, ”सत्ता पक्ष से सवाल पूछें, सत्ता पक्ष के वादों को याद दिलाना, जनता के मुद्दों को जन प्रतिनिधियों के सामने रखना एक पत्रकार की जिम्मेदारी है। लेकिन, उत्तरप्रदेश में एक पत्रकार को अपनी जिम्मेवारी प्लगिन के लिए जेल भेज दिया गया। भाजपा चाहती है कि मीडिया केवल स्तुति करे, प्रश्न न पूछे”।

खबरें और भी हैं…



Source link

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here