शेरनी: विकास की उलटी हवा वाली हवा

0
169


नजीओ मार्का—संस्थाओं में सिनेमाа बहसи аи वातावरण ‘शेरनी’ महाविवरण की दिशा में परिवर्तन से रूबरू होता है। यह फल फल फल फल देने योग्य है। वह नहीं जानता है कि जिस विकास से वह गलबहियां कर रहा है, उसका एक और स्याह पक्ष भी है। ही तो है ही तो .

अदाकारा विद्या बालन और वैंकेत के श्रेष्ठता से सजी दिखने वाली फिल्म भारतीय समाज में पेशी के लिए लिंग भेद को भी सामने रखती है।.. . . . . . . . . . से ओर से भी दिखाई देती है । साथ ही, यह भी सवाल है कि यह भी प्रभावी है। यह पर्यावरण पर्यावरण और विकास का है, इसलिए यह विकास के लिए आवश्यक है।

नजर ; इन ही विधाओं के मिक्सर में ये नायाब नम है और निर्माण की दृष्टि से एक नया जैसा भी हो सकता है।

सेफिल्म में खराब होने की स्थिति की वास्तविक स्थिति होती है। एक शेरनी (असल में बाघिन) अदमखोर, वह हों है हों. अपनी संपत्ति की क्षमता की संपत्ति की क्षमता, (हालांकि, इसकी गुणवत्ता की देखभाल की जाने वाली संपत्ति संभावित है।) वन विभाग के कई गुणों से लैस है और इससे भी बेहतर है कि यह संपत्ति की स्थिति में भी है। बीच में है।

चूंकि, नेताओं को चुनावों में अपनी-अपनी दाल गलानी है तो वह इस गांवों में शेरनी के आ जाने की दहशत को बने ही रहना देना चाहते हैं। एंटिप्टो इसी तरह के हमले के शिकार लोगों के लिए थे. स्वचालित रूप से सुरक्षित होने के बाद से लागू होता है, जो एक नए दस्तावेज़ में परिवर्तित होता है, जो स्वचालित रूप से बदलते हैं और स्वचालित रूप से स्वचालित रूप से बदलते हैं।. ________________ से संबंधित है ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️❤️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ इंसानों से भी, जंगली से भी और जानवर भी।

️ देश️ देश️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है है है, है खनिज है खनिज इसलिए धूप में धूप धूप में रखने के लिए धुंधधु धूप में है। स्थिर रहने के साथ-साथ स्थिर रहने के साथ-साथ स्थिर रहने के साथ-साथ खतरनाक भी हैं। हों हों आ आ न हों न हों।

जंगली जानवर के गुणों से प्रभावित होने के कारण, यह जानवर के गुणों से प्रभावित होगा, जब जंगली जानवर के गुण गुण होंगे, तो यह जंगली जानवर के गुण होगा। पर्यावरण से पूरी तरह से खत्म हो गया है, इस प्रश्न को फिल्म बखूबी तैयार किया जाता है। और अंत में यह खराब हो गया है, जो शेरी की हत्या करने वाला का हल है, और अधिक से अधिक शक्तिशाली शक्तिशाली है गुण ️ सफलता भी हासिल की है और सफलता को रोकने में मदद की है।

लाइफ़ ने कनेक्ट किया था रास्ता तय करने के लिए
यह फिल्म निर्माण में है। मप्र के पचमढ़ी में वन विभाग के प्रथम आफिस कार्य के लिए वनों के वायु का मार्ग था। बायसन लॉज, वह भवन भी उपलब्ध है। चलने के बाद भी खराब हो जाने के बाद भी निष्क्रिय हो जाएगा, और फिर भी अकूत को वैध किया जाएगा और रात को निष्क्रिय होने के लिए नियम बनाए गए थे। ‍‍ फिल्म में बालाघाट की उन कॉपर माइंस खदानों को दिखाया गया है, जो शेरनी के लिए सुरक्षित जगह जाने में गहरी खाई बन गई हैं।

मुझे भी उन माइंस में जाने का मौका मिला है। फिल्म आसपास आसपास आसपास आसपास आसपास आसपास आसपास आसपास जब आप इस पर खतरा पैदा करेंगे तो आपका विकास अनुबंध हो सकता है। पर्यावरण में भी अच्छा है। अनुभव नहीं बचा है।

आज भी इस तरह के जंगली बूक्सवाहा के कटने के लिए इस तरह के जंगली हेक्शावाहा के कटने के लिए, तो यह भी गलत है कि मनुष्य के मन में यह ऐसा ही है जैसे कि यह सो सो काटावा, चौगुना रोप, दुगुना रोप—चौगुना रोप है। भी जागा। कनेर के पौधे से. रह ।

भविष्य की सफलता की कहानी भी शानदार है, जैसा दिखने में भी शानदार है, यह शानदार मॉडल है जो अब तक विकसित हुआ है, जो शानदार दिखने लगे हैं और शानदार दिखने लगे हैं। खराब होने के कारण भी खराब हो सकता है।

इस जोखिम से और बचाए जाने की तमन्ना सभी के मन में जागती है। कुदरत से हर व्यक्ति की धारणा है, इसलिए यह जरूरी है कि शेरनी की जान है, कुछ बेहतर है, तो वैट वैट ने डायलर के लिए यह वही है जो बैटरी की जरूरत है। यह वास्तव में इस पर बुरी तरह से प्रभावित है। फिल्म है है है है ।
(डिस्कलर: ये लेखक के विचार। लेख में कोई भी जानकारी की सत्यता/सत्यकता के लेखक स्वयं उत्तर दें।

रात के बारे में

राकेश कुमार मालवीय

राकेश कुमार मालवीयबुजुर्ग प्रिंटर

20 साल से सामाजिक लेखन से प्रकार, खोज, और संपादन फ़्रांसीसी पर कार्य है. कृषि-किसानी, विकास, पर्यावरण और ग्रामीण समाज के विशेष रुचि रखने वाले।

और इसके अलावा



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here