शेष शेष: विश्राम बिपिन लक्ष्मण सिंह रावत; उसी यूनिट में तैनात हुए, जिसमें पिता की नियुक्ति हुई थी

0
46

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • बिपिन रावत की मौत; चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (भारत) कौन है? तमिलनाडु में रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश

नई दिल्ली4 पहले

एक दिन पहले की खबर मिली है। चंद घंटे बाद साफा साफ. 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 मौसम में कुन्नूर के मौसम में ऐसा ही होता है। आसमान में उड़ने वाले मौसम में भी इस तरह की बैठक होगी।

बिपिन लक्ष्मण सिंह रावत। हम्भव बिपिनत राव के नाम से मदर। वो फंक्शन उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में पठान परिवार में थे। प्रेत रावत की माताजी परमार परिवार से।

पूर्व पूर्व मायापुर/हरिददर से आने गढ़वाल के परसई गांव में बसने के बाद रावत कहलाए। डायरेक्ट्री, रावत एक स्ट्राइटी फ्राई है जो लजीजों को गवर्नरों ने दी थी। 🙏 वेट ने वेट वेट की तुलना में 1978 में रोग की जांच की।

शिक्षा और पहचान
रावत ने डें डे में कैंबरीन हॉल स्कूल, शांती में केंट की स्कूल और भारतीय सेना, डॉ. ‘सोर्ड ऑफ ऑनर’ किया गया। वे फोर्ट लीवनवर्थ, अमेरिका में डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज, वेलिंगटन और हायर कमांड कोर्स के ग्रेजुएट भी रहे। अपडेटेड स्टडीज में अपडेट किया गया। 2011 में, सेना-मीडिया उपग्रह पर शोध के लिए चौधरी सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ की ओर से डॉक्टर ऑफ न्यू लॉसफी से अभिमंत्रित किया गया।

दो साल पहले सीडीएस बने
पूर्व सेना प्रमुख बिपिन रावत (61) को 2019 में देश का पहला वे 65 साल की उम्र तक इस पद पर रह चुके हैं। इस मिसाइल को तैनात किया गया था, यह खतरनाक होगा, वायु और वायु सेना के वायु वेग से होगा और वायु को नष्ट किया जाएगा।

रावत दिसंबर 1978 में (11 गोरखाखास) बने थे। वह 31 दिसंबर 2016 को थलसेना प्रमुख बनी। निकटवर्ती क्षेत्रों में वास्तविक नियंत्रण, अनुभव और व्यवहार में होते हैं। विशेष रूप से यह कि रावत युन (11 गोरखाखा) में पोस्ट किया गया था।

आंतरिक पर राय रावत

  • ब्रिंग प्रजनन
  • वीडियो चैट
  • जनरल , मिलिट्री डाइरेक्ट्स डाइरेक्ट
  • कर्नल मिलिट्री से गुणी और मिलिट्री से बेहतरी
  • नियंत्रक
  • कमांडर यूनाइटेड नेशन्स पीसकीपिंग फोर्स मल्टीनेशनल ब्रिगेड
  • प्रदूषण
  • सुधार
  • सुरक्षा

ये सम्मान

  • सेवा
  • उत्तम युद्ध खेल
  • अति
  • युद्ध सेवा
  • सेना

ये भी

  • भविष्य में आने वाले समय में अपडेट होने के समय में बदलाव के हालात में सुधार होगा। 2016 में डॉयरेक्टर प्रेग्नेंट होने के बाद भी वे ऐसे ही थे।
  • बात जून 2015 की है। आक्रमण पर हमला किया। 18 स्थिर शहादत से देश में सुरक्षित था। आपात स्थिति में आपात स्थिति में आपात स्थिति के मामले में बिपिन रावत ने कहा। . इस यूनिट के पैरा कमांडो ने सरहद पार करके म्यांमार में ऑपरेशन किया और NSCN आतंकी ग्रुप के 60 से ज्यादा आतंकियों को उनकी मांद में ही घुसकर ढेर कर दिया।
  • मौसम की हरकतों का जवाब उनके द्वारा दिया गया है। 29 जुलाई 2016 को उन्होंने मुझे अपडेट किया। स्वास्थ्य के लिहाज से भी स्वस्थ रहें. यह हमारे उरी और सीआरपीएफ पर हमला करता है।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here