HomeIndia Newsश्रद्धा मर्डर केस: आफताब की साकेत कोर्ट में पेशी आज; अपराध...

श्रद्धा मर्डर केस: आफताब की साकेत कोर्ट में पेशी आज; अपराध का स्वीकारनामा- घर के खर्च के विवाद में 18 मई को काट दिया गया

Date:

Related stories

महबूबा मुफ्ती का केंद्र को संदेश: कश्मीर का मसला हल नहीं किया, तो कितने भी आरोप लगाते हैं कोई नतीजा नहीं निकलेगा

हिंदी समाचारराष्ट्रीयजम्मू कश्मीर मुद्दे पर महबूबा मुफ्ती बनाम नरेंद्र...
  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • श्रद्धा आफताब; दिल्ली फ्लैट | आफताब अमीन पूनावाला श्रद्धा वॉकर मर्डर केस अपडेट

नई दिल्ली4 मिनट पहले

- Advertisement -

दिल्ली के श्रद्धा मर्डर मामले में पंच आफताब पूनावाला को आज दिल्ली पुलिस साकेत कोर्ट में पेश करेगी सरकार। दिल्ली पुलिस आफताब का नार्को टेस्ट की तैयारी में है। पुलिस कोर्ट से उसका रिमांड मांगेगी। इसके अलावा आफताब के फ्लैट से मिले खून के रिकॉर्ड की जांच के लिए भेजा जा रहा है। अगर यह खून इंसान का होता है, तो पुलिस डीएनए मैचिंग के लिए श्रद्धा के पिता को दिल्ली बुला सकती है। श्रीमान की बॉडी के मिले 13 करोड़ की DNA जांच होगी।

- Advertisement -

- Advertisement -

कटल वाले दिन घरेलू खर्च को लेकर हुई थी दोनों बहस
सूत्रों के मुताबिक पुलिस को पूछताछ में आफताब ने बताया कि 18 मई यानी मर्डर वाले दिन श्रद्धा और उसके बीच घरेलू खर्च को लेकर शाम हुआ था। रोज-रोज लेकर खर्च कौन करेगा, इसे दोनों के बीच बहस शुरू हुई थी, इसके बाद ही उसने श्रद्धा की हत्या की।

बता दें कि पुलिस पूछताछ में एक और जानकारी सामने आई है, जिसमें बताया गया है कि रनिंग के बाद आफताब ने श्रद्धा के अकाउंट से 55 हजार रुपए निकाले थे। सूत्रों के अनुसार ये खर्च किए गए खाते लेने से लेकर धारदार चाकू और गारबेज बैग खरीदने में किए गए थे।

मुंबई में गुरुकल के छात्रों ने जमीन पर श्रद्धा की तस्वीर उकेरी।  छात्रों ने आफताब को कड़ी सजा देने की भी मांग की।

मुंबई में गुरुकल के छात्रों ने जमीन पर श्रद्धा की तस्वीर उकेरी। छात्रों ने आफताब को कड़ी सजा देने की भी मांग की।

डॉक्टर के मुख्य गवाह बनाए गए हैं
जिस डॉक्टर ने मई में आफताब के कटे हुए हाथ का इलाज किया था, उसे पुलिस ने मुख्य गवाह बनाया है। बता दें कि पुलिस ने जब आफताब के फ्लैट की गली ली थी तब एक डॉक्टर ने उन्हें हाथ लगाया था। इसके बाद पुलिस आफताब को लेकर महरौली में डॉक्टर के क्लिनिक तक पहुंच गया था। तब डॉक्टर ने आफताब की पहचान और इलाज की बात बताई थी।

आफताब हरे रंग की इस इमारत में पहले फ्लोर पर रहता था।  वह किसी से नहीं मिलता था।  इमारत में रहने वाले लोग इस मामले से पहले उसका नाम नहीं जानते थे।

आफताब हरे रंग की इस इमारत में पहले फ्लोर पर रहता था। वह किसी से नहीं मिलता था। इमारत में रहने वाले लोग इस मामले से पहले उसका नाम नहीं जानते थे।

आफताब के किचन से खून के निशान मिले थे
श्रद्धा मर्डर मामले के दशक और उसकी लिव-इन भूमिका आफताब के किचन से पुलिस को खून के निशान मिले। क्राइम सीन की पुनरावृत्ति के लिए पुलिस सोमवार की रात आफताब को उसके फ्लैट पर ले जाया गया था। इसी दौरान उसकी किचन में खून के ये निशान मिले।

बाथरूम में लाश के 35 टुकड़े किए गए, खून सीवेज में बहाया
न्यूज एजेंसी ने पुलिस सूत्रों के तारों से यह खबर भी दी है कि आफताब ने फ्लैट के फर्श में श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े किए थे। इस दौरान वह चिपकी रहती थी, ताकि शरीर से निकले खून सीवेज में बह जाए। सूत्र ने यह भी बताया है कि आफताब ने बनावट को केमिकल से साफ किया था, ताकि सबूत मिटाए जा सकें।

पुलिस के मुताबिक 28 साल के आफताब ने 18 मई को 27 साल की श्रद्धा का मर्डर कर दिया था। दोनों लिव-इन में रहते थे। आफताब ने श्रद्धा के शरीर के 35 टुकड़े किए थे। इन्हें रखने के लिए 300 पीने का पेय था। वह 18 दिन से रोज रात 2 बजे जंगल में शव के टुकड़े देखता था।

फोटो आफताब के इंस्टाग्राम से ली गई है।  वह एक फूड ब्लॉगर है।  3 मार्च के बाद से वह इंस्टाग्राम पर एक्टिविटी नहीं करता है।

फोटो आफताब के इंस्टाग्राम से ली गई है। वह एक फूड ब्लॉगर है। 3 मार्च के बाद से वह इंस्टाग्राम पर एक्टिविटी नहीं करता है।

श्रद्धा मर्डर केस में अब तक सामने आईं नई बातें…

1. मकान मालिक ने आफताब का पुलिस वेरिफिकेशन नहीं किया
27 साल की श्रद्धा के मर्डर मामले में कई दावे और रिपोर्ट सामने आ रही हैं। इनके मुताबिक 28 साल के आफताब ने 15 मई को महरौली जंगल के पास फ्लैट लिया था। मकसद के बॉडी पार्ट को आसानी से ठिकाने लगाना था। एक रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि इस फ्लैट के मालिक ने हायर हायर करने के बाद आफताब का पुलिस वेरिफिकेशन नहीं किया था। पुलिस यह जांच कर रही है कि क्या आफताब ने घर के खाने का समय अपना धर्म छुपाया था?

2. शक न हो इसलिए नौकरी पर जा रहा है, श्रद्धा का सोशल मीडिया सक्रिय रखा
आफताब गुरुग्राम में एक कंपनी में नौकरी करता था। श्रद्धा की हत्या करने के बाद भी वो रोज़ नौकरी पर जाता था, ताकि किसी को शक न हो। हालांकि श्रद्धा को मारने के बाद अपने फ्लैट पर वो किसी को भी नहीं आता था। मर्डर के बाद परिवार और दोस्तों की नजरों में श्रद्धा को जिंदा रहने के लिए आफताब अपना इंस्टाग्राम प्रोफाइल और अकाउंट अपडेट करता था। वो रोज कुछ न कुछ पोस्ट करते रहते थे।

3. रोज़ रात 2:00 बजे समूह जंगल की मिली, समूह से पकड़ा गया
पुलिस के पास जब श्रद्धा के पिता विकास ने अपहरण की शिकायत दर्ज की तो आफताब जांच के दायरे में आया। उनका हर दिन रात 2 बजे महरौली के जंगल में रहता था। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा- पहले तो आफताब कहता है कि श्रद्धा दिल्ली छोड़कर चली गई है। जब सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने हत्या की बात कबूल की और पूरी कहानी बताई।

4. 10 दिन पहले मार देता है, लेकिन शुभ्र इमोशनल हो गया था
पुलिस सूत्रों के मुताबिक आफताब ने पूछताछ में बताया- श्रद्धा को 10 दिन पहले ही मार देता है, लेकिन शाम करने के बाद श्रद्धा इमोशनल हो गई थी। इसलिए उसने मारने की योजना रद्द कर दी। आफताब ने आगे बताया कि श्रद्धा ने फोन पर उसे किसी लड़की से बात करते हुए सुन लिया था, जिसके बाद दोनों की लड़ाई हुई थी।

5. क्राइम शो वेब सीरीज देखकर जुर्म छिपाने का रहस्य आया
एक पुलिस अफसर ने कहा- आफताब वेब सीरीज और रोजगार पर क्राइम शोज देखने का आदी था। इन सीमित को देखकर वह खुश हैं कि कैसे श्रद्धा को परिवार और दोस्तों की नजरों में जिंदा दिखाया जाए। 18 दिन तक लगातार घनेरे में ठिकाने लगाने का भी इन सीमित वेब सीरीज और क्राइम शोज से खुशी हुई। गूगल के जरिए उन्होंने खून साफ ​​करने का तरीका भी ढूंढा।

6. 18 मई से ही मारने का मन बना लिया था
सूत्रों के मुताबिक, आफताब ने पुलिस के सामने कबूल किया कि मर्डर वाले दिन यानी 18 मई से एक हफ्ते पहले ही आफताब ने श्रद्धा को मारने का मन बना लिया था। उस दिन भी श्रद्धा और आफताब का शाम हुआ था। उसने कहा, ‘मैंने 11 मई को ही उसे मारने की ठान ली थी कि वह अचानक से भावुक हो गई और रोने लगी। इसलिए मैंने तय किया कि अब इसे किसी और दिन मारूंगा।’

आफताब के फ्लैट में गेट के पास ये बाउल दिखा, जिसमें गुलाब की पंखुड़ियां भरी हैं।  इसी कमरे में आगे के कपड़े का स्टैंड भी रखा है।

आफताब के फ्लैट में गेट के पास ये बाउल दिखा, जिसमें गुलाब की पंखुड़ियां भरी हैं। इसी कमरे में आगे के कपड़े का स्टैंड भी रखा है।

7. दृढ का कटा हुआ सिर देखा आफताब
पुलिस पूछताछ में आफताब की दरिंदगी और हैवानियत की इंतहा भी सामने आ रही है। सूत्रों के मुताबिक, आफताब ने जिस कमरे में श्रद्धा के शव के टुकड़े रखे थे, वह उसी कमरे में लगातार 18 दिन सोता रहा। इसलिए ही नहीं वह रोज खोलकर श्रद्धा के कटे हुए सिर को भी देखता था।

8. श्रद्धा के टुकड़े करते वक्त आफताब का हाथ कट गया था
आफताब को लेकर एक डॉक्टर अनिल कुमार का बयान सामने आया है। डॉक्टर का दावा है कि आफताब मई में सुबह के समय उनका क्लिनिक पर आए थे। उसका हाथ कट गया था। वह बहुत आक्रामक और लग रहा था। डॉक्टर ने बताया, ‘जब मैंने चोट के बारे में पूछा तो उसने कहा कि फल सूटकेस के समय उसका हाथ कट गया था।’

डॉक्टर ने कहा, ‘दो दिन पहले पुलिस आफताब को लेकर मेरे क्लिनिक में था। मैंने पूरी बातें पुलिस को बताई हैं।’

9. पिता को नहीं पता था बेटी कि कहां है…
न्यूज एजेंसी से बातचीत में श्रद्धा के पिता विकास ने कहा, ‘मेरी उससे आखिरी बार 2021 में बात हुई थी। तब मैंने उससे पूछा था कि गुण लिव-इन अभिनय कैसा है। उसने ज्यादा कुछ नहीं बताया था। मुझे तो यह भी नहीं पता था कि वो दिल्ली शिफ्ट हो गई है। उनके एक दोस्त ने बताया कि श्रीमान बैंगलोर में नहीं, बल्कि दिल्ली में है। आफताब को सबूत मिटाने के लिए बहुत नींद आ गई।’

मुंबई पुलिस ने दो महीने में तीन बार की आफताब से पूछताछ की
मुंबई के वसई थाने के सहायक पुलिस निरीक्षक संपतराव पाटिल ने भास्कर को बताया कि श्रद्धा के लापता होने के बाद परिवार ने शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने आफताब पूनावाला को पहले अक्टूबर में फिर 3 नवंबर को पूछताछ के लिए बुलाया था। उसकी दो गलतियां दर्ज की गईं।

दोनों ही बार वह विश्वास से अपनी दृष्टि में आया और उसके चेहरे पर पछतावे का कोई भाव नहीं था। वे 8 नवंबर को दिल्ली के महरौली थाने भी गए थे। वहां भी आफताब से पूछताछ की थी, लेकिन तब भी उसने यही बात दोहराई कि श्रद्धा और वह अब साथ नहीं रहेगा। श्रद्धा उसे छोड़ कर चली गई है

श्रीमान मर्डर से जुड़ी हर एक खबर नीचे पढ़ें…

1. जिस कमरे में लाश के टुकड़े रखे थे वहीं सोता था; आरी से उसका भी हाथ कट गया था

दिल्ली के श्रद्धा वाकर मर्डर केस में रोज नए खुलासे हो रहे हैं। साथ ही हत्या के दसवें आफताब की दरिंदगी और डरावने चेहरे की कहानी भी छनकर सामने आ रही है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, आफताब ने जिस कमरे में श्रद्धा की डेड बॉडी के टुकड़े रखे थे, वह उसी कमरे में लगातार 18 दिन सोता रहा। पूरी खबर पढ़ें…

2. श्रद्धा वैसी लड़की नहीं थी कि शादी का दबाव बनाते हैं:दोस्त बोला- आफताब रिजर्व रहता था

मुंबई की रहने वाली श्रद्धा ने मास मीडिया की पढ़ाई की थी। कॉलेज में उनकी 4जी गर्ल फ्रेंड थीं। वह हमेशा हंसती रहती है। कटे हुए बाल होने की वजह से उसकी अलग पहचान भी थी। उसने अपने दोस्तों को आफताब के साथ रिश्तों के बारे में बताया था। श्रद्धा की लाइफ को समझने के लिए हम कॉलेज में उसके दोस्त हैं सिल्वर से बात की। पूरी बातचीत…

3. ‘पापा मैं 25 की, जजमेंट खुद ले सकता हूं’ जब श्रद्धा घर छोड़कर चली गई थी

श्रद्धा के पिता विकास मदन वाकर स्टेटमेंट हैं- श्रद्धा ने अपनी मां से 2019 में कहा था कि वह आफताब के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में हैं। मैंने इसका विरोध किया था। तब शुभचिंतक हो गए। उसने कहा कि मैं 25 साल की हो गई हूं। मुझे अपना निर्णय लेने का पूरा अधिकार है। मैं आज से आपकी बेटी नहीं हूं। मेरी पत्नी काफी मिन्नतें कर रही थी, लेकिन वह आफताब के साथ चली गई। पढ़ें पूरी खबर…

4. श्रद्धा का मर्डर कब: पुलिस का दावा- 18 मई को हत्या हुई, दोस्त बोला- जुलाई में बात की थी

श्रद्धा मर्डर केस में अब सवाल ये है कि क्या उसकी मर्डर फाइनल हो गई? सवाल की वजह से दो दावे हैं। पहला दावा पुलिस का है, जो कह रही है कि शुभ्र का मर्डर हो सकता है। दूसरा दावा दोस्त लक्ष्मण नडार का है, जो कह रहा है कि जुलाई में तो उनका श्रद्धा से बातचीत हुई थी। लक्ष्मण ने बताया- जुलाई में श्रद्धा ने वाट्सएप से संपर्क किया था। तब शुभरात्रि काफी खराब हो गई थी। पढ़ें पूरी खबर…

5. आफताब ने क्राइम शो से खुश मर्डर का तरीका:आरी से श्रद्धा के 35 टुकड़े किए और अपनाए गए पालन

दिल्ली पुलिस ने सोमवार को दिल दहला देने वाले की हत्या का खुलासा किया। 18 मई यानी करीब 6 महीने पहले लिव इन पार्टनर आफताब ने 27 साल की श्रद्धा की बेरहमी से हत्या कर दी। उसके शव को आरी से काट दिया। नए टूटे हुए टुकड़े बने रहें और बदबूदार रहें ताकि अगरबत्ती सुलगाता रहे। पढ़ें पूरी खबर…

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here