संक्रमण में दहलाने की घटना: संंति के बल पर बैंक चेहरे की रक्तदानी की वजह से, जैकरे को रखा था

0
47

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • आंध्र प्रदेश वध कांड; गांव चित्तूर में बकरी की जगह आदमी का गला काटता है

सिकंदराबाद3 पहले

  • लिंक लिंक

राज्य के चित्तूर संक्रांति के खतरे पर एक दहलाने वाला रोग है। चित्तूर के वलसापल्ली में संक्रांति पर पशु बलि दी जा रही थी। इस तरह के एक व्यक्ति ने इंसान को इंसान बनाया। समीक्षा की गई है।

, गांव में येलम्मा को सीढ़ियों जा रही थीं। प्रेत के शेलापाती को दलाल ने दलाल से पेश किया।

हारे का गल लगा हुआ था, जेकरे को था था। सुरेश का काफी ज्यादा खोमान रहना था, उसे अस्पता ले जाया गाया, लेकरन उसकी जान नहीं बची।

हर परिवार के परिवार के सदस्य, मदनपल्ले गांव के हर लोग करेंगें। बार बार संक्रांति की व्यवस्था की गई थी। दया की रक्षा में लोगों ने मदद की। घटनाओं की गतिविधियों में शामिल हैं।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here