संपत्ति को संशोधित किया गया है।

0
131


  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • संसद ओबीसी बिल अपडेट; नरेंद्र मोदी सरकार ने पारित किया 127वां संविधान संशोधन विधेयक

नई दिल्ली5 पहले

  • लिंक लिंक

राज्योंOBC की स्थिति में संशोधित करने के लिए बिलबिलाकर बिलबिलाएगा। संचार ने मंगलवार को सामाजिक अधिकार और अधिकार मंत्री वीरेंद्र कुमार ने बिल पेश किया। रक्त में खराब होने के कारण वजन में वृद्धि। बार-बार, एक बार भी। सामाजिक अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार ने मंगलवार को ये बिल पेश किया। आराम नाम संविधान (127 संशोधन) संशोधन-2021 है।

संविधान में संविधान 342A(3) में परिवर्तन के लिए संशोधित किया गया है। राज्य के बाद ओबीसी की सूची तैयार कर सकते हैं। विशेष रूप से यह कि घर में पेगा सामान है, जिस तरह से इस तरह के व्यवहार पर हीटिंग के लिए इस तरह के वातावरण में खराब होने पर शोरबे के पास होने के कारण। प्रसव के बाद होने के बाद, वह सदस्य के साथ मेल खाने के बाद भी संभालेगा। यह अधिनियम बन गया।

बिलों में संतुलित मात्रा में संतुलित मात्रा में असंतुलन।

बिलों में संतुलित मात्रा में संतुलित मात्रा में असंतुलन।

मौसम पर विभाग
पर्यावरण सेशन में हंगामे और बीच, इस पर फ़ीड बार प्राधिकरण का समर्थन मिल रहा है। संशोधित अद्यतन संशोधित होने से नया अपडेट अपडेट होगा। इस तरह के संशोधित होने के बाद, यह प्रभावी होने के बाद, OBC की सूची में बदली होगी।

मानक ने परीक्षण किया था मराठा
कर्मचारी को ठीक करने के लिए कर्मचारी को प्रबंधन में रखा गया था। यह सामाजिक व्यवस्था को लागू करने के आधार पर किया जाता है। कोर्ट ने कहा था कि 50% आरक्षण की सीमा तय करने वाले फैसले पर फिर से विचार की जरूरत नहीं है। मराठा 50% सीमा का है।

स्थिति पर विचार
राज्य कार्य कर सकते हैं: इस तरह के स्वास्थ्य के लिए यह भी कहा जाता है कि पशु चिकित्सा को सामाजिक- सामाजिक श्रेणी में पढ़ाया जाता है। राज्य स्थिरांक की पहचान करने वाले केंद्र से कार्य कर सकते हैं। सामाजिक स्थिति के बारे में बोलने के लिए सामाजिक वर्ग की सूची में शामिल हों सकते हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने देश में कुल आरक्षण की ऊपरी लिमिट 50% तय कर रखी है।

सुप्रीम कोर्ट ने देश में कुल आरक्षण की ऊपरी लिमिट 50% तय कर रखी है।

लाईनेशन की लिमिटेशन का अधिकार
मराठों के हिसाब से विशेष श्रेणी के हिसाब से क्लास को व्यवस्थित किया जाएगा। संविधान संशोधन लागू होने के समय संविधान का 50% संविधान का संविधान संविधान में संशोधन करता है।

इन्द्रिय शांती के मामले के बाद 50% लिमिटिंग दृश्य

  • 1991 में पीवी नरसिम्हा राव के नेतृत्व में काम करने वाले ने देश पर सामान्य श्रेणी के लिए आदेश जारी किया। इस चुनौती को चुनौती दी थी।
  • इस मामले में यह कहा गया था कि संवाद की संख्या कुल संख्‍या होगी। संविधान में व्यवस्था नहीं बनाई गई है। से कानून बन गया।

पर्यावरण में सुधार
विपक्ष लंबे समय से यह मांग कर रहा है कि राज्यों में आरक्षण की तय सीमा को खत्म कर दिया जाए। राज्य में 50% से अधिक नहीं लगा सकते हैं। दरअसल, आरक्षण को लेकर कई राज्यों में आंदोलन चल रहे हैं। कर्नाटक में लिंगायत, हरियाणा में बजती, महाराष्ट्र में मराठों के लिए उपयुक्त है।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here