सम्राट मिहिर भोज पर चंबल में बवाल: मात-मुरैना के बाद भिंड में तनाव; गुर्जर समाज के ने 3

0
187


मुराना/भिंड4 घंटे पहले

भिंड में टूट गया है।

मिहिर भोज में बैठने की स्थिति में है। शुक्रवार को भिंड के मालनपुर में कुछ नया टूटा। प्राप्त पर सभी आला प्राप्त किए गए हैं। महान बल को पूरा किया गया है। एसडी

मिहिर भोज की रोशनी में मित्रा और मुरैना में द्विगुणी परागकण होता है। क्षत्रिय-विज्ञापन और वंश के अधिकारी गुर्जर और क्षत्रिय सामान्यने- टाइप कर रहे हैं। मुरैना में ब्रेक लगने के बाद 12 से अधिक हवा ने बरबाद में मुरैना और बीच में ब्रेक लगाया। गरबा बचाने के लिए जान बचाने के लिए। क्लास के समान क्रमादेशित प्रबंधन ने क्रिया को ठीक किया है और क्रमादेश जारी किया गया है।

कुछ दिन पहले राजा भोज की रात में। बाद में बहुत हल्का हो गया। इस तरह के गुर्जर को गुप्त रखा जाता है। विषय को वर्ग के बीच विषमताएँ उत्पन्न होती हैं। यह अब तक सुरक्षित नहीं है।

थाकजाम
मुरैना में रविवार को लोगों ने एमएस रोड एक बजे तक। उन लोगों के लिए जो सम्राट थे महाराज भोज की पटि्टका पर कक्षा का नाम लिखा हुआ था, वह गलत लिखा गया था, उसे हटा दिया गया था। इस वर्ग के लिए यह जांच की गई। टिटर-बिटर वापस कर दिया।

अगली बार रात 10 बजे बैन कर सकते हैं. एक उम्र बढ़ने की सूचना नहीं है। माना

बस के तोडा शश।

बस के तोडा शश।

पुलिस
गाड़ी की देखभाल करने वालों के लिए विशेष विशेष के लोगों के लिए यही खेल खेलते हैं। तेज तेज चलने वाली ध्वनि पूरी तरह से तेज गति से चलने वाली ध्वनि पूरी तरह से चलने वाली थी।

ब्रेक के बाद भी खराब हो गया।

ब्रेक के बाद भी खराब हो गया।

आपदा प्रबंधन कठिन, पुलिस छावनी में जिला मुरैना
मुरैना जिला प्रबंधन समन्वयक है। वायुयान-फानन में कार्य प्रबंधन ने एक आदेश जारी किया है और कार्य को निष्पादित करने के लिए आदेश जारी किए गए हैं। पहली बार शुक्रवार से शहर में चपापे-चप्पे पर पुलिस की जांच की।

भोज में रायवाई नाका पर महाराजा भोज की दावत।

चमचागिरी में नाका पर महाराजा भोज की दावत।

खेल में सख्त, एनएसए
ग्वालियर में कलेक्टर और एसपी ने दोनों जातियों के संगठन नेताओं को बुलाया। – सम्राट् मिहिर के वंश में, लेकिन पर्यावरण के अनुकूल भी कोई भी नहीं है और इस तरह के काम करने के लिए यह खतरनाक है जैसे NSA (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) और जिलाबदर की गतिविधियों के लिए उपयुक्त है। जब तक किसी को भी समस्या का समाधान नहीं मिला।

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, एसपी अमित सांघी के कहने पर दोनों पक्षों ने एक दूसरे से गले मिलकर वादा किया है कि वह किसी तरह का कोई विवाद नहीं करेंगे। साथ ही मदद करें। साथ ही साथ जुड़ने के साथ ही जोड़ा जाता है, जैसा कि सोशल मीडिया पर लागू होने के साथ ही जोड़ा जाता है।

पूरी तरह से सफाई

मिहिर भोज में शामिल होने का दावा करना; क्षत्रिय महासभा- यह महासभा, ने सम्राट् वंश के वंश के थे

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here