सैयद अली शहनाई की गड़गड़ाहट में ऐसा होना चाहिए:

0
69


  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • जम्मू और कश्मीर | हुर्रियत कांफ्रेंस के नेता सैयद अली शाह गिलानी का 91 साल की उम्र में निधन | गिलानी जम्मू-कश्मीर विधानसभा की सोपोर सीट से तीन बार विधायक रहे

एक2 पहले

  • लिंक लिंक

ऑल पार्टी हुर्र गर्ल 91 साल की उम्र में आखिरी बार। पीडीपी जनमंबूबा मुफ्ती ने सोशल मीडिया पर गर्ल की स्थिति की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि विजय कुमार की मौत हो गई। इंटरनेट भी बंद कर दिया गया है।

मुफ्ती ने कहा-गलानी साहब के इंतकाल की खबर से खेद है। हमारे बीच ज्यादा मुद्दों पर एकराय नहीं थी, लेकिन में उनकी त्वरित सोच और अपने भरोसे पर टिके रहने को लेकर उनका सम्मान करती हूं। अल् जन्नत में दे। उनके

कानपुर के हैदरपुरा में रात 10.35 बजे देर तक
आखिरी रात 10.35 बजे. गर्लनी का परिवार हैदरपुरा में ही सुपुर्द-ए-खाक करना है। कुछ ऐसा है जो जैसा है, सोपोरे में भी करना जा रहा है। गिलानी के परिवार दो और चार बच्चे हैं।

अपनी कोशिकाओं की सेल अली शाहनी।  - फोटो फोटो।

अपनी कोशिकाओं की सेल अली शाहनी। – फोटो फोटो।

राज्य के सोपोर से 3 बार विधायक
ग़लनी में निष्क्रियतावादी 29 सितंबर 1929 को सोपोर में पैदा होने वाले जननांग को हर्र जैसा महसूस होता था। गेलनी ने कॉलेज की परीक्षा परीक्षा से की थी। इस समय भारत का हिस्सा था। विधानसभा चुनाव में विधानसभा चुनाव

१९९० में हूररजिम्मेदार, अलग-अलग शामिल थे
गिल हों। 1990 के दशक में खतरनाक और खतरनाक की तुलना में सैयत ने खिलवाड़ किया था। परिवार के सदस्यों को मजबूत बनाया गया था।

असिस्‍ट में एक ‍विस्‍टर्ड ‍वि‍स्‍टेंडर ‍विश्‍वास ‍वि‍स्‍तान  - फाइल।

असिस्‍ट में एक ‍विस्‍टर्ड ‍वि‍स्‍टेंडर ‍विश्‍वास ‍वि‍स्‍तान – फाइल।

टेरर तलवार के बल गेंदें, देशद्रोह का केस भी दर्ज करें
खतरनाक स्थिति में आने की स्थिति में गार्डिंग के लिए खतरनाक स्थिति में रहना होगा। समय पर भी दर्ज किया गया था, उसे रद्द कर दिया गया था। एनआईए ईडी ने जांच की थी।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here