HomeIndia Newsहजारा की ऊंचाई से देखने, महाकाल का दरबार: 2 लाख दर्शन दर्शन;...

हजारा की ऊंचाई से देखने, महाकाल का दरबार: 2 लाख दर्शन दर्शन; शाम को सावन की बैठक, शाम का सीएम

Date:

Related stories

स्वंत्रिकता के दिन पर वीरता की घोषणा: नायक देवेंद्र प्रताप सिंह कीर्ति चक्र से अभिमंत्रित; 8 को शौर्य चक्र

हिंदी समाचारराष्ट्रीयनायक देवेंद्र प्रताप सिंह कीर्ति चक्र से सम्मानित;...

RRR के लिए उन्नत किस्म का सलाहकार, बोलकर बोली- ‘पहली बार…

मुंबईः फिल्मकार एस.एस. राजामौली (SS राजामौली) के 'Rarr'...

131 गेंद में खेली 174 गेंद की भट्टी, 20 चौके और 5चीके जामए | रॉयल लंदन वन-डे कप; ससेक्स बनाम सरे, चेतेश्वर...

होव4 पहलेलिंक लिंकभारतीय इंटरनेट वेब साइट्स में इंटरनेट इंटरनेट...

आनंद उज्जैन3 पहले

- Advertisement -

सावन के दर महाकाल के दरबार में चलने की क्रिया है। ये होने वाले भस्म से संबंधित हैं। रात 8 बजे से 4 लाख करोड़ खर्चे सफल हों। देश के कोने-कोने से श श श श उज उज आए आए आए हुए हैं हैं हैं आज शाम 4 बजे महाकाल की बैठक में महाकाल की बैठक में शामिल होने के लिए शिवराज सिंह भी शामिल हैं।

- Advertisement -

- Advertisement -

महाकाल मंदिर में सुबह भस्मी के साथ ही 20 महालेश्वर ने प्रबंधकीय दर्शन से दर्शन पाठ पढ़ा। भस्म आरती के बाद से ही विषमता के दर्शन दर्शन शास्त्र है। प्रबंधन का प्रबंधन ऐसा करने के लिए प्रभावी है। डायवर्जन के बाद सुबह 11 बजे तक अपडेट करें। पूरे समारोह को पूरा किया गया।

सामान्य दर्शनों के लिए चार धाम से लाइन

सामान्य दर्शन के लिए आने वाले दर्शनार्थी भी समाज के धर्म में पार्क कर सकते हैं। दातार अखाड़ा से चारधाम मंदिर, हरसिद्धि मंदिर चौराहा, गणेश मंदिर के फासिलिटी सेन्टर कार्तिकेय गलम में पाठ कर रहे हैं।

दोपहर 12 बजे से 2 लाख बजे तक महाकाल के दर्शन।

दोपहर 12 बजे से 2 लाख बजे तक महाकाल के दर्शन।

गरुड़ पर मांस दाल

श्रावण मास की घड़ी आज शाम 4 बजे फोन से बजे। महाकाल शिव तांडव के रूप में गरुड़ पर मौसम प्रजा का हाल ही में परागण करेंगे। पालकी में चंद्रमोलीश्वर और मनमहेश विराजित। कार्य से पहले महाकालेश्वर धर्मपाठ में विधिवत् शुंद्धु मोलीश्वर का पुप-अर्चन। विस्तार के बाद के विवरण के लिए नगर घूमने पर बाहर।

मध्य शिवराज

महाकाल की बातचीत में शामिल होने के लिए शिवराज सिंह चौहान उज्जैन होंगे। मंत्र, साधना सिंह के साथ महाकाल पूजा। इसकेबाद चंद्रेश्वर के लिए बनाया गया है। वे में भी शामिल होंगे।

प्रबंधन के लिए डॉयमैन दर्शन दर्शन दर्शन पाठ।

प्रबंधन के लिए डॉयमैन दर्शन दर्शन दर्शन पाठ।

आज रात 12 बजे खुलेंगे नागचंद्रश्वर के पट

श्री महाकालेश्वर मंदिर के शीर्ष पर नागचंद्रेश्वर मंदिर के पट रात 12 बजे होंगे। साल में एक बार 24 घंटे के लिए नागपंचमी के लिए क्या किया जाए। एम.एम.आर.ए.एम.एल. फूल को फूल-प्रसादीने की मेही है। मंगलवार की रात 12 बजे बंद हो जाएगा। ध्याशन सिंह के व्यवस्थित सूत्र से व्यवस्थित होते हैं। पच्ची पर 30 मिनट की बैठक में प्रबंधन…

खबरें और भी…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here