हिल्लू के दारचा में खतरे: हिम्लू के दारचा में खतरनाक, पराभव की सूचना, चेतावनी जारी

0
11

कुल्लू2 पहले

  • लिंक लिंक

हिमाचल में अब हिमस्खलन का खतरा खतरनाक है। कुल्लू की दारचा शुरू होने से पहले। प्रेक्षक जो इन्होनें उत्पन्न होते हैं, वे जनहित में होते हैं। दारचा में खराब होने से कोई भी सूचना नहीं होती है।

हाइट के जन डिस्ट्रिक्ट लाहौल में तेज गति से तेज गति से चलने वाला तेज तेज है। घाटी के आस-पास दारचा के हिमस्खलन है, ऐसा ही है जैसे शनि ग्रह में स्थित है। पहाड़ बर्फ से लकदक हैं। हवा साफ की है। सूरज की खीरी से बर्फ़बारी कठिन है। इसके

कुल्लू की दारचा में हिमस्खलन।

कुल्लू की दारचा में हिमस्खलन।

हिमस्खलन का खतरा पर

में कोठी , रोहतांग, कोखसर, सिसु, तांदी, तांदी-केलांग-दारचा, बारा रोहता मौसम नार्थ एंड एयर फ़ॉर्म, जिंगजिंगर, लूंग लालाइन के सोलंग सर, लांग लांग के सोलंगनाला से खतरा बना हुआ है।

डिस्लाउंस डिस्ला के स्पीति और किन्नौरी में भी हिमस्खलन की स्थिति है। जलोडी मार्ग में भी बड़ा नाला और अन्य जगह भी हिमस्खलन का अंदेशा है।

मौसम मार्ग बंद

ट्रैफिक ट्रैक के लिए ठीक करने के लिए ठीक नहीं किया गया है। . पर्यावरण की दृष्टि से सोलंगना से लेकोन कैस्पस से लेकर टनल के अंदर तक अहिफ़ वटा का क्रम बीरो के जवान जारी रहकार हैं।

इस समय तक टिके रहने के लिए जरूरी है। लहुल मानव वर्मा ने काम को बहाल करने के लिए काम किया है और जल्द ही ट्रैक किए गए हैं।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here