0
150


  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • उत्तर प्रदेश
  • अयोध्या
  • पांच सौ साल बाद रामलला को मिला चांदी का झूला, नागपंचमी से 21 किलो के इस भव्य झूले पर बैठेंगे पुजारी को सौंपा ट्रस्ट

अयोध्या6 पहले

  • लिंक लिंक
रामला के लिए दरबार में बैठने की स्थिति

रामलला के लिए दरबार में बैठने के लिए

अयोध्या में 500 साल के बाद रामलला के लिए यह बेहतर होगा। और बेहतर तरीके से सुधरने पर

यह करोड़ों रामभक्तों के लिए खुश की बात

श्रीराम जन्म भूमि ट्रस्ट वैजिशन वैजिशन के अनुसार, वैंशनल मिश्री ने झिलन की आरती-पूरी कर रहे हैं, रामलला के पेसर सत्येंद्र दास को बैंल पेसर ने बैटरी की है कि राम विश्वास के प्रकाश में झूला मिल रहा है। इस काम की शीर्षक की है और कि अब रामाला की शानदार सेवा है और विश्वास के समर्थन से ही यह हो सकता है पा हैलाराम जयलंद के जीवन पर 500 बाद के जीवन ने जीती हैं, करोड़ों रामभक्तों केलिए।

संतों ने अपने जीवन में राहत दी

ओर श्रीरामवल्लभाकुंज के प्रमुख स्वामी राजकुमार दास, बावन मंदिर के महंत वैभवलभ्र शरण, जगगुरु रामानुजाचार्य स्वामी राघवाचार्य, उदास राजकुमार के कार्यालय के महंत भरत दास, विदेही मंदिर के महंत दास ने अपने जीवन का दास बना लिया। कि वे रामलला की जीवनी की डायर में अपनी रामभक्ति की डोर और दृढ़ वचन हैं

चंपत राय बेले, प्रभु को समर्पण कर दिया

विश्‍वास के चन्‍चवन्‍न शुक्‍ल कल्‍याल कल्‍याल (11.8.21). रामलीला के जीवन की स्थिरता को पूरा किया गया है।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here