HomeWorld News2 घातक, 100 लोगों की मौत; 300 से अधिक अस्ताना |...

2 घातक, 100 लोगों की मौत; 300 से अधिक अस्ताना | मोगादिशू कार बम विस्फोट 2 कारों में विस्फोट, 100 की मौत; 300 से अधिक घायल

Date:

Related stories

मोगादिशू8 पहला

  • लिंक लिंक
- Advertisement -
- Advertisement -

सोमालिया की राजधानी मोगादिशू में खराब हुई व्यवस्था। आज तक 100 लोगों की मौत हो गई है। 300 से अधिक अस्त-व्यस्त हो गए हैं। इस संगठन का उत्तरदायित्व है। जटिल समूह के सदस्य बाहरी समूह के समूह में शामिल हैं।

- Advertisement -

सोमालिया को खराब करने वाली डूडिशी ने कहा: गर्भवती महिला, बड़ों की आयु में वृद्धि होती है। एक प्रिंटर की मृत्यु भी होती है। इस तरह के लोग उसे देख रहे हैं।

अफरा-तफरी मच में।  लंबी कतार की कतार।  ठहरे हुए हैं।

अफरा-तफरी मच में। लंबी कतार की कतार। ठहरे हुए हैं।

बचाव के लिए बनाया गया आधा
पुलिस अधिकारियों ने नूर फराही ने कहा- पहला धमाका स्ट्रॉन्ग स्टैंड एक कार में लगा। आस-पास के लोग मदद के लिए इक्ट्ठा हो गए। इसी तरह की स्थिति पर और बार-बार रिपोर्ट करने वालों की स्थिति खराब हो गई। डेटाबेस पर एक आसन्न व्यक्ति ने कहा- I दूसरा धमाका होने के बाद धौएं का रिकॉर्ड दिखाना। गलत समय पर चारों दिशा दिखाई दे रहा है।

धामाका समान था कि अस्त-व्यस्त हों।  पर्यावरण में भी नुकसान हुआ है।

धामाका समान था कि अस्त-व्यस्त हों। पर्यावरण में भी नुकसान हुआ है।

2017 सबसे ख़तरनाक हो गया
ये धमाका घायल हो गया, जहां 2017 में सबसे खतरनाक धमाका हुआ था। उस 500 लोगों की मौत। अस-पास के अधिकारियों ने यह भी कहा। 2017 में एक अस्पताल के पास धमाका था।

6 दिन पहले हमला किया गया

24 को किसमायो शहर के हालात पर हमला किया गया था। में 9 लोगों की मौत हो गई। 47 अस्त हुआ। वर्ग का प्रकार अगस्त 2022 था। 21 अगस्त को सोमालिया की राजधानी मोगादिशु ने हयात में अस्पताल में भर्ती कराया। 20 लोगों की मौत हो गई।

अल-शबाब पर संबंधित के
सोमालिया के समूह ने समूह को समूह में शामिल किया है। मानव गर्भ में पल रहे हैं।

अल-शबाबं जो संस्था में मौजूद हैं, वे वायरस के लिए खतरनाक हैं।

अल-शबाबं जो संस्था में मौजूद हैं, वे वायरस के लिए खतरनाक हैं।

क्या अल-शबाब

  • अल-शबाब एक संस्था है। विश्वास 2017 में सोमालिया सरकार के लिए
  • अल-शबाब का जन्म 2006 में हुआ था। ये अरब के ठोंकड़ें हैं।
  • मोगादिशू शहर ऑफ इस्‍लामिक्‍स के समाधान में था, जो कि शरिया का एक संस्था था। शरीफ़ शरीफ़ अहमद था। 2006 में उसकी सेना ने उसे रखा और अल-शबाब का जन्म हुआ। अल-शबाब ऑफ इस्लामिक्स की एक शाखा है।

खबरें और भी…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here