HomeSports News20 करोड़ में बिकी; 1986 वर्ल्डकप में किया गोल...नाम मिला- 'हैंड...

20 करोड़ में बिकी; 1986 वर्ल्डकप में किया गोल…नाम मिला- ‘हैंड ऑफ गॉड’ | माराडोना 1986 विश्व कप फुटबॉल नीलामी; डिएगो माराडोना हैंड ऑफ गॉड एंड जर्सी मूल्य विवरण | फीफा विश्व कप कतर 2022

Date:

Related stories

  • हिंदी समाचार
  • खेल
  • माराडोना 1986 विश्व कप फुटबॉल नीलामी; डिएगो माराडोना हैंड ऑफ गॉड एंड जर्सी मूल्य विवरण | फीफा विश्व कप कतर 2022

एक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
- Advertisement -
- Advertisement -

फुटबॉल जगत का सबसे चर्चित गोल…फीफा ने गोल ऑफ सेंचुरी का स्तर दिया है। हैंड ऑफ गॉड के नाम से जाने वाले मैराडोना के इस गोल की कीमत आज अरब रुपये पहुंच गई है।

- Advertisement -

उस पर खेली फुटबॉल (24 लाख डॉलर) 20 करोड़ रुपए बिकी है। अर्जेंटीना-इंग्लैंड के बीच शुक्रवार को खेले गए 1986 विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में जापान ने फुटबॉल को नीला कर दिया।

एडिडास का सफेद रंग इसका फुटबॉल का नाम है। यह ट्यूनीशिया के संदर्भ अली रोलिंग के पास था। ये वही रेफ़री हैं, जो उस प्रचार में हैंडबॉल देने से चूक गए थे। इस गेंद को ग्रेट ब्रिटेन के प्लैनेटम में खराब एक्शन में नीलाम किया गया था।

रोलिंग ने नीलामी से पहले कहा था- ‘दुनिया के साथ इस गेंद को शेयर करने का यह सही समय है।’ उन्होंने उम्मीद की थी कि इसकी निगरानी इसे सार्वजनिक प्रदर्शनी के लिए होगी।’

करीब 6 माह पहले मैराडोना की जर्सी (9.3) 75 करोड़ में नीलाम हुई थी।

सबसे पहले देखिए, वह फुटबॉल जो 19 करोड़ की बिकी​​​​​​​​​​​​​​​​​​​

हैंड ऑफ गॉड क्यों खास है
एक अनोखा गोल…जो हैंड बॉल पर हुआ। यह फुटबॉल इतिहास का इकलौता गोल था, जो हाथ होने के बाद भी दिया गया। क्योंकि, रेफरी ने बॉल को हाथ से लेते हुए नहीं देखा था। और उस समय किसी तकनीक का भी इस्तेमाल नहीं किया गया था, जिससे निर्णय को बदला जा सके।

मैच के बाद माराडोना ने कहा, 'मैंने यह कुछ अपने सिर से गोल किया और कुछ भगवान का हाथ था।'

मैच के बाद माराडोना ने कहा, ‘मैंने यह कुछ अपने सिर से गोल किया और कुछ भगवान का हाथ था।’

हैंड ऑफ गॉड कैसे हुआ
22 जून को इंग्लैंड-अर्जेंटीना के बीच 1986 वर्ल्ड कप का क्वार्टर फाइनल मुकाबला खेला जा रहा था। माराडोना ने बॉल को गोल पोस्ट में डालने की कोशिश की। वे गेंद को अपने सिर से नीचे गिराना चाहते थे, लेकिन गेंद उनके सिर के काम पर हाथ लगाने लगी और गोलकीपर पीटर शिल्टन को छकाते हुए नेट से लगी।

इसे रेफरी हैंडबॉल मिस कर दिया गया और इसे गोल करार दिया गया। इस तरह अर्जेंटीना मैच में 1-0 की बढ़त मिली। अर्जेंटीना ने मैच 2-1 से जीता और सेमीफाइनल में जगह बनाई।

दिल का दौरा पड़ने से मैराडोना की मौत हो गई थी
2 साल पहले मैराडोना के डिएगो मैराडोना की 60 साल की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी। सदी के महान फुटबॉल खिलाड़ी उनमें से एक थे।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here