HomeSports News5 महीने में 1000 से ज्यादा रन बनाएं; स्ट्राइक रेट, चौके...

5 महीने में 1000 से ज्यादा रन बनाएं; स्ट्राइक रेट, चौके और छक्के में भी अव्वल | 5 महीने में 1000 से ज्यादा रन बनाए; स्ट्राइक रेट में अव्वल, चौके-छक्के भी

Date:

Related stories

कटल के बाद सैनिक का शव पेड़ पर लटकाया, लोगों से कहा- जनाजे में शामिल न हों | पाकिस्तान तालिबान | तालिबान...

पेशावर2 मिनट पहलेकॉपी लिंकपाकिस्तान सरकार और टीटीपी (तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान)...

एमसीडी चुनाव के नतीजे आज: 42 चुनाव पर वोटों की गिनती होगी, अर्ध सैनिक बलों की 20 कंपनियां

हिंदी समाचारराष्ट्रीयदिल्ली एमसीडी चुनाव के नतीजे आज आएंगे: 42...

अक्षर को मिल सकता है मौका; देखें दोनों टीमों की संभावित खेल-11 | भारत बनाम बांग्लादेश दूसरा वनडे लाइव स्कोर अपडेट विराट...

मीरपुर4 मिनट पहलेभारत-बांग्लादेश ऑस्ट्रेलिया सीरीज की दूसरी प्रतियोगिता बुधवार...

एशिया के सबसे बड़े दानवीरों में 3 भारतीय: फोर्ब्स की लिस्ट में अडानी टॉप, 60 हजार करोड़ रु. दान दिया

हिंदी समाचारराष्ट्रीयफोर्ब्स परोपकार सूची; फोर्ब्स एशिया हीरोज; ...

कांग्रेस की राजनीति: भारत जोड़ो यात्रा कोटा पहुंचें, कठपुतली नचा रहे हैं राहुल

एक मिनट पहलेकॉपी लिंककांग्रेस का राज तो ज्यादा राज्यों...

स्पोर्ट्स डेस्क3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
- Advertisement -
- Advertisement -

देश बदला, विरोधी टीम बदली, जहरीला बदला…बस एक बात नहीं बदली। वह सूर्यकुमार यादव की बल्लेबाजी है। माउंट मोंगुई के वे ओवल मैदान पर न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टी-20 इंटरनेशनल में सूर्या ने सिर्फ 51 गेंद पर 111 रन बनाए। स्ट्राइक रेटिंग 217.64, इस पारी में 11 चौके और 4 चौके लगाए गए।

- Advertisement -

सूर्या इस पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज रहे। दूसरा टॉप स्कोरर ईशान किशन रहे। उन्होंने 36 रन बनाए। सबसे बेहतरीन स्ट्राइक रेट भी सूर्या का रहा। 9 बॉल पर 13 रन बनाने वाले श्रेयस अय्यर दूसरे नंबर पर रहे। उनकी स्ट्राइक रेट 144 थी। चौके और छक्के में भी कोई सूर्या के आस-पास नहीं था।

सूर्या और देश के बाकी बल्लेबाजों के बीच यह अंतर सिर्फ इस मैच में देखने को नहीं मिला। यह पांच महीने की कहानी है। मैच चाहे इंग्लैंड में हो, यूएई में हो, भारत में हो, ऑस्ट्रेलिया में हो या न्यूजीलैंड में हो…सूर्य हर जगह चमक रहे हैं।

मूल रूप से बनारस के रहने वाले इस मुंबईकर ने इसी साल भारत के इंग्लैंड दौरे से ऐसी बल्लेबाजी की है मानो भारतीय टी-20 क्रिकेट के आकाश में वे इकलौते सूरज हों। उनके सौरमंडल में दूसरे बल्लेबाजों की हैसियत क्षुद्र योजनाओं से ज्यादा नहीं हो रही है।

हर पैमाने और ज्यादातर हिस्सेदारी में वो सब पर हावी होना साबित हुआ। स्कीमा देखते हैं कि इस साल जुलाई से अब तक कैसे सूर्या ने खुद को टी-20 क्रिकेट का किंग साबित किया।

25 मैच में 1029 रन, 51 का औसत और 187 स्ट्राइक रेट
सूर्या को हमेशा टी-20 क्रिकेट का अच्छा बल्लेबाज माना जाता था, लेकिन उनके महामानव के रूप में इस साल भारत के इंग्लैंड दौरे से गलतियां शुरू हुईं। 3 मैचों की सीरीज में उन्होंने 57 का औसत और 201.17 के स्ट्राइक रेट से 171 रन बनाए।

इस सीरीज की शुरुआत से अब तक सूर्या ने 5 महीने में 25 मैचों में 51.45 का औसत और 187.09 के स्ट्राइक रेट से 1029 रन बनाए हैं। दूसरे नंबर पर मौजूद विराट कोहली ने 18 मैचों में 59 के औसत से 712 रन बनाए। लेकिन, विराट का स्ट्राइक रेट (139) सूर्या के आसपास भी नहीं रहा।

चौके-छक्के जमाने में भी अलमारी के पीछे छोड़ दें
सूर्या ने इस साल जुलाई से अब तक 25 मैच में 96 चौके और 58 छक्के जमाए हैं। कोई भी दूसरा भारतीय बल्लेबाज उनके आस-पास नहीं फट पाया है। इस समय अंतराल में चौके के मामले में विराट (18 मैचों में 58 चौके) दूसरे और रोहित शर्मा (23 मैच में 55 चौके) तीसरे नंबर पर हैं। कोई भी अन्य भारतीय बल्लेबाज इस दौरान 30 छक्के भी नहीं लगा। 27 छक्कों के साथ रोहित दूसरे और 26 छक्कों के साथ केएल राहुल तीसरे नंबर पर हैं।

टी-20 रैंकिंग में दुनिया के नंबर-1 बल्लेबाज बने
लगातार अच्छी बल्लेबाजी की सूर्या टी-20 क्रिकेट में दुनिया के नंबर-1 बल्लेबाज भी बन गए। उन्होंने पाकिस्तान के मोहम्मद रिजवान और बाबर आजम की बादशाहत का दर्जा खत्म कर दिया। वो इस बार टॉप-10 में इकलौते भारतीय बल्लेबाज हैं।

सूर्या की पहुंच क्या है राज
सूर्या ग्राउंड के चारों ओर शॉट खेल सकते हैं। इसलिए उन्हें श्री 360 भी कहा जाता है। भारत के ज्यादातर बल्लेबाज स्पिनरों के खिलाफ स्वीप और रिवर्स स्वीप नहीं खेलते हैं। लेकिन, सूर्या ऐसे शॉट से लिपटते नहीं हैं। ऐसा नहीं है कि वे पावर हिटिंग करते हैं। वे फील्ड दोस्तों के साथ खेलते हैं। जहां गैप होता है वहां शॉट प्ले करें।

उन्होंने हाल ही में एक इंटरव्यू में कहा कि हर गेंद के लिए उनके पास दो से तीन शॉट होते हैं। इस काबिलियत के दम पर वो सामने वाली टीम के हर प्लान को फेल कर देते हैं।

टी-20 अंतरराष्ट्रीय में भारत के लिए अब तक 11 शतक लगे हैं। 4 शतक इसी साल आए। इनमें से 2 तो अकेले सूर्यकुमार यादव ने ही बनाए हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here